ख़त्म हुई चाचा-भतीजे की जंग, शिवपाल को मिल सकती है पार्टी की ये बड़ी जिम्मेदारी

0

लखनऊ। विधानसभा चुनावों में करारी हार के बाद अब समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव सियासी दलों के साथ-साथ अपने परिवार को भी एक करने में जुटे हुए हैं। जी हां, जहां अखिलेश ने अपनी राजनैतिक ताकत मजबूत करने के लिए बसपा प्रमुख मायावती से हाथ मिला लिया है वहीँ अपने चाचा शिवपाल यादव से दूरियां मिटाने की कवायद में जुटे हैं। ख़बरों की माने तो अखिलेश ने इसकी शुरुआत कर दी है। अखिलेश जल्द ही चाचा शिवपाल यादव को एक बड़ी जिम्मेदारी सौंप सकते हैं।

अखिलेश यादव

जी हाँ, शिवपाल यादव पार्टी के महासचिव बन सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो जैसे जैसे वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव पास आरहे हैं वैसे वैसे अखिलेश अपने विरोधियों को मानाने और अपनी पार्टी को मजबूत करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। इसी कड़ी में अखिलेश यादव अपने परिवार को भी एक करने में लगे हैं। उन्होंने शिवपाल यादव को एक बड़ी जिम्मेदारी सौंपने का फैसला कर लिया है। लेकिन इसके लिए शिवपाल यादव को भी मुलायम सिंह यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग छोडनी पड़ेगी।

सपा सूत्रों की मानें तो बहुत जल्द अखिलेश यादव खुद इस बात का ऐलान कर सकते हैं। पार्टी सूत्रों के अनुसार हाल ही में परिवार के कुछ नजदीकी नेताओं की मध्यस्थता से अखिलेश, शिवपाल और मुलायम के बीच लंबी बातचीत हुई। जिसके बाद यह फैसला लिया लिया गया।

आपको बता दें कि करीब दो साल से चली आरही इस लड़ाई का अंत नजर आ रहा है। हालाँकि जब तक इसकी आधिकारिक घोषणा न हो जाये तब तक कुछ नहीं कहा जा सकता क्योंकि कई बार ऐसा लगा था कि शायद दोनों के बीच दूरियां कम लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

loading...
शेयर करें