फिल्म रिव्यू : काम में कम और ट्विटर पर ज्यादा दिमाग लाएंगे तो ‘सरकार 3’ जैसी ही फिल्म बनाएंगे रामू

0

फिल्म का नाम : सरकार 3

स्टार कास्ट : अमिताभ बच्चन, मनोज बाजपेयी, अमित साध, यामी गौतम, रोनित रॉय, जैकी श्रॉफ

डायरेक्टर : राम गोपाल वर्मा

रेटिंग : 2

सरकार 3 फिल्म रिव्यू

सरकार 3 फिल्म रिव्यू

मुंबई। राम गोपाल वर्मा की फिल्म ‘सरकार 3’ आज बॉक्स ऑफिस पर रिलीज़ हो गई है। ‘सरकार 3’  रामगोपाल वर्मा के ‘सरकार’ फ्रेंचाइजी की तीसरी फिल्म है। ये फिल्म हॉलीवुड की फिल्म ‘गॉडफादर’ से प्रेरित है। इससे पहले रिलीज़ हुए सरकार के पहले दो पर्ट्स को तो दर्शकों ने खूब पसंद किया था। आइये फिल्म की समीक्षा करते हैं और देखते हैं कि क्या सरकार 3 को भी वही प्यार मिलता है या नहीं।

कहानी

सरकार 3 की कहानी सुभाष नागरे (अमिताभ बच्चन) के साथ शुरु होती है। सुभाष को लोग सरकार नाम से पुकारते हैं। सरकार जो सही लगता है वो वही करते हैं फिर चाहें वो भगवान के खिलाफ हो, समाज के खिलाफ हो, कानून के खिलाफ हो या फिर पूरे सिस्टम के खिलाफ हो। कहानी में सरकार के पोते शिवाजी नागरे (अमित साध) की एंट्री होती है। शिवाजी की एंट्री के बाद से कहानी में ट्विस्ट आता है। शिवाजी का आना कुछ लोगों को अच्छा नहीं लगता उसमें सरकार के दो खास लोग शामिल होते हैं एक गोकुल (रॉनित रॉय) और दूसरा गोरख (भरत दाभोलकर)। अब होती है फिल्म की हिरोइन अनु (यामी गौतम)  की एंट्री। अनु, शिवाजी की गर्लफ्रेंड होती हैं और अपने पिता की मौत का बदला सरकार से लेना चाहती हैं। अनु के साथ दो और ऐसे लोग होते हैं जो सरकार का काम खत्म करना चाहते हैं। राजनेता देशपांडे (मनोज बाजपेयी) सरकार को लोगों की नजरों में गिराना चाहता है और बिजनेसमैन माइकल वाल्या (जैकी श्रॉफ) सरकार को मार देना चाहता है और इसके लिए कई तरह के हथकंडे अपनाता है। आगे की कहानी जानने के लिए आपको सिनेमाघर तक जनाना होगा।

निर्देशक

राम गोपाल वर्मा ने बहुत निराश किया है। न तो कहानी में दम है, न ही डायलॉग्स में और डायरेक्शन भी कुछ खास नहीं है। मल्टीस्टारर इस फिल्म में रामू ने सिर्फ बिग बी के कैरेक्टर पर काम किया है। लेकिन बाकी कैरेक्टर्स पर बिलकुल ध्यान नहीं दिया गया है। फिल्म काफी बिखरी हुई सी लगती है। फिल्म की कहानी रेगुलर है, जिसे आसानी से प्रेडिक्ट किया जा सकता है। इस पर और काम किया जाता तो फिल्म किसी और लेवल की होती । रामू ने फैंस को बहुत निराश किया है।

एक्टिंग 

इतनी बकवास स्टोरी के बाद भी अमिताब बच्चन ने अपनी दमदार एक्टिंग से फिल्म को संभाले रखा। फिल्म की कास्टिंग बहुत जबरदस्त थी लेकिन अच्छी स्क्रिप्ट न होने की वजह से किसी का रोल उभरकर सामने नहीं आया। यामी गौतम स्क्रीन पर बहुत कम ही दिखाई दीं। लेकिन फिर भी सभी ने अपनी तरफ से बेस्ट दिया।

म्यूजिक

फिल्म में अमिताभ बच्चन की आवाज में गाई गई गणेश आरती बहुत ही शानदार है। इसके अलावा अगर बैगग्राउंड स्कोर की बात करें तो वो बहुत लाउड है। फिल्म धीरे-धीरे चल रही होती है अचानक लाउड म्यूजिक बजता है और फिर अचानक खत्म हो जाता है।

देखें या नहीं।

पहले वाली सरकार के बारे में सोचकर जाएंगे तो निराश होंगे, हां अगर बिग बी के फैन हैं तो जा सकते हैं।

loading...
शेयर करें