प्रेमिका को गिफ्ट देने के लिए सर्राफा दुकान से लूट लिए 10 लाख रुपए

0

उत्तर प्रदेश|जौनपुर में प्रेमिका को गिफ्ट में जेवरात देने के लिए प्रेमी ने साथियों संग सर्राफा दुकान में 10 लाख की डकैती डाली. मामला जौनपुर के पवांरा बाजार का है. यहां 31 जुलाई को बदमाशों ने 10 लाख रुपए लूट लिए थे. यह जानकारी जौनपुर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने दी. उन्होंने बताया कि इस डकैती को 6 बदमाशों ने अंजाम दिया था, जिनमें से तीन लोग गिरफ्तार कर लिए गए हैं. पुलिस का दावा है कि गिरफ्तार बदमाशों के पास से साढ़े तान लाख के जेवरात, दो बाइक, दो तमंचा और कारतूस बरामद किए गए हैं.पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार के मुताबिक, वर्कआउट में पता चला कि डकैत दिलीप उर्फ डीके ने अपनी प्रेमिका को गिफ्ट में जेवरात देने के लिए डकैती की योजना रची थी. उसकी प्रेमिका के माता-पिता नहीं हैं, उसके पास शादी में गिफ्ट देने के लिए पैसे नहीं थे. इसी वजह से डीके ने अपने 5 साथियों के साथ डकैती की घटना को अंजाम दिया. पुलिस को डकैती कांड के मुख्य आरोपी डीके समेत तीन बदमाशों की तलाश है, जिसके लिए वह ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है.जांच के दौरान पुलिस को तीन डकैतों का सुराग मिल गया. तब उसने मुंगराबाद शाहपुर के खड़ारी तिराहे के पास से तीनों को दबोच लिया.

पुलिस ने इन डकैतों के पास से साढ़े तीन लाख रुपए के जेवरात जब्त किए हैं. फिलहाल, सर्राफा दुकान डकैती कांड का मुख्य अभियुक्त दिलीप उर्फ डीके समेत नमन और फरात की तलाश में पुलिस की कई टीमें जुटी हुई हैं. एसपी सिटी संजय कुमार ने बताया है कि शादी कर अभियुक्त डीके सिंह अपनी प्रेमिका की प्रॉपर्टी हथियाने के फिराक में था, इस योजना में डीके के पिता भी शामिल थे. पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने पहले दुकान की रेकी की. उसके बाद डकैती कांड को अंजाम दिया. डकैत और उसकी प्रेमिका दोनो जौनपुर के बरसठी के रहने वाले हैं. पुलिस का दावा है कि वह जल्द ही दोनों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेजेगी.

तीन गिरफ्तार, जेवरात जब्त

आपको बता दें कि पवांरा बाजार में एस ज्वेलर्स के नाम से अमरनाथ सेठ, योगेश सेठ की दुकान है. वहां बाइक से आए हथियार छह बदमाशों ने दिनदहाड़े फायरिंग करते हुए 10 लाख के जेवरात लूट लिया था. इस डकैती कांड के आरोपी धीरज कुमार मोदनवाल, दिग्विजय सिंह, शिवशंकर सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिय था और उनके पास से लूट के साढ़े तीन लाख रुपए के जेवरात जब्त किए थे.

loading...
शेयर करें