भारत में 100 साल की वृद्ध महिला ने दी कोरोना को मात, जज़्बे को सलाम

0

भारत में 100 साल की वृद्ध महिला ने दी कोरोना को मात, जज़्बे को सलाम

गुवाहाटी: असम में 100 साल की वृद्ध महिला ने कोरोना को मात देकर देश के लोगों को आत्मविश्वास का संदेश दिया है। गुवाहाटी की 100 वर्ष की जिंदादिल महिला द्वारा कोविड-19 को मात देने के बाद स्वस्थ्य कर्मियों ने भी जश्न मनाया।

असम की सबसे उम्रदराज मरीज माई हांडिक की अधिक आयु उनके लिए बड़ी चुनौती थी लेकिन चिकित्सकों का कहना है कि उन्होंने अपनी सकारात्मकता के बल पर यह जंग जीती है।

ये भी पढ़ें : अमेरिका के बराबर पंहुचा भारत, कोरोना के मामले 52 लाख के पार, मरने वालों का आकड़ा भी 85 हजार के करीब

कोरोना से जंग लड़ने वाली असम की वृद्ध महिला माई हांडिक को स्वस्थ होने के बाद गुवहाटी के महेंद्र मोहन चौधरी अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। मदर्स ओल्ड एज होम में रह रहीं हांडिक को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद दस दिन पहले ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

ये भी पढ़ें : एक मास का मलमास आज से शुरू, 16 दशकों बाद शुभ संयोग, जानें किन कामों की है मनाही

अस्पताल से डिस्चार्ज होने की ख़ुशी में अस्पताल के डॉक्टरों और कर्मियों ने जश्न मनाया जिसमें हांडिक ने भी कई असमिया गीत गाए। अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद हांडिक ने कहा कि समस्त स्वास्त्य कर्मियों ने उनका बहुत खयाल रखा। उन्होंने असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्व सरमा की भी तारीफ की।

आपको बता दें की मदर्स ओल्ड एज होम में रहने वाले लोगों में 12  संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। जिनमे से पांच एकदम स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं।

शेयर करें