International Women’s Day : शिव की भक्ति में लीन हुईं 1000 महिलाएं, दीयों की रौशनी से जगमगाया Kashi

International Women's Day पर भगवान शिव की नगरी Kashi में महिलाओं के लिए विशेष आयोजन किया गया। इस आयोजन में 16 राज्यों की 1000 महिलाएं काशी पहुंची।

वाराणसी : International Women’s Day पर भगवान शिव की नगरी Kashi में महिलाओं के लिए विशेष आयोजन किया गया। इस आयोजन में 16 राज्यों की 1000 महिलाएं काशी पहुंची। यहां इन महिलाओं और लड़कियों ने अस्सी घाट पर हाथ में दिता लेकर भगवान शिव के तांडव श्रोत का पाठ किया। इससे पूर्व यह सभी महिलाएं गंगा नदी के तट पर इस आयोजन के लिए Kashi पहुँच कर तैयारियों में जुटी रहीं।

कैसे हुआ आयोजन

महिला दिवस के मौके पर यह कार्यक्रम Mumbai की संस्था फाउंडेशन फॉर होलिस्टिक डेवलपमेंट इन एकेडमिक फील्ड (FHDAF) की ओर से आयोजित किया गया था। सोमवार यानी 8 मार्च 2021 को जब घाट की सीढ़ियों पर लाइन में खड़ी महिलाओं ने शिव तांडव का पाठ शुरू किया तो वहां मौजूद हर शख्स इस नज़ारे को देखकर मंत्रमुग्ध हो गया। इस दौरान देश के विभिन्न भागों से तकरीबन 200 लोगों ने ऑनलाइन भी इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

कोरोना गाइडलाइन का किया गया बखूबी पालन

इस दौरान कोरोना गाइडलाइन के सभी नियमों का बखूबी पालन किया गया। महिलाओं ने फेस शील्ड मास्क लगाकर लोगों को कोरोना से बचने का सन्देश भी दिया। हाथों में गंगा और शिव की आरती के लिए दिए लेकर मौजूद इन महिलाओं ने लाल और हरे रंग की साड़ियां पहनी हुईं थीं। लाल और हरे रंग के परिधान में सजी इन महिलाओं से मानों काशी और निखर गया हो। ने हाथ लाल और हरे रंग की साड़ियां पेहनी हुईं थीं। ढलते सूर्य के साथ शिव तांडव का श्रोत जब शुरू हुआ तो पूरा वातावरण शुद्ध हो गया और हर कोई शिव की भक्ति में लीन हो गया।

यह भी पढ़ें :

शिव तांडव पाठ में शामिल यह सभी महिलाएं महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, उड़ीसा, कर्नाटक, राजस्थान समेत 14 अलग-अलग राज्यों से वाराणसी पहुंची थीं। शिव तांडव पाठ के साथ ही गंगा आरती का भी आयोजन शुरू हुआ। जिसके बाद जान्हवी तट पर दीयों की रौशनी से मानो गंगा तट भी जगमगाने लगा।

Related Articles