गुस्से में पति के ऊपर बैठी 110 किलो की पत्नी, उठने के बाद जो हुआ…

रूस के साइबेरिया में पति और पत्नी के बीच अजीबों-गरीब झगड़ा, गुस्से में 110 किलो की पत्नी, पति मुंह पर ही जा बैठी

नई दिल्ली: अक्सर शादी के बाद पति और पत्नी के बीच तो झगड़े होते ही है। क्यों जहां झगड़ा वहां प्यार भी होता है। पति और पत्नी के बीच झगड़ा होना आम बात है। लेकिन जानकारी के मुताबिक रूस के साइबेरिया (Siberia) से एक चौकानें वाला मामला सामने आया है। साइबेरिया में एक महिला की वजह से उसके पति की जान चली गई। जिसके कारण पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

पति और पत्नी के बीच

रूसी मीडिया के मुताबिक Novokuznetsk में रहने वाली तातियाना (Tatiana) अपने पति एडर (Eder) से कुछ दिनों से नाराज थी। जिसके कारण उन दोनों पति और पत्नी के बीच काफी बहस हो गई। जिसके बाद तातियाना ने अपने पति से माफी मांगने को कहा। लेकिन उसने माफी मांगने से इनकार कर दिया। जिसके बाद उसे गुस्सा आया और उसने पति को जमीन पर पटक दिया फिर उसके मुंह के ऊपर बैठ गई। इसके बाद एडर की हालत नाजुक होती गई। क्योंकि उसकी पत्नी का वजन 110 किलो था।

 

काफी देर तक एडर तड़पता रहा लेकिन उसने माफी नहीं मांगी। और इसी कारण उसकी पत्नी उसके मुंह पर बैठी ही रही। कुछ देर में एडर को सांस लेने में दिक्कत होने लगी। फिर वो अपनी पत्नी से जान बचाने के लिए गिड़गिड़ाते रहा।लेकिन तब भी उसकी पत्नी नहीं मानी। पत्नी ने साफ कहा कि जब तक तुम माफी नहीं मांगोगे तब तक मैं नहीं उठूंगी। फिर धीरे-धीरे पति एडर की आंखें बंद होती गई और अंत में उसने दम तोड़ दिया। कुछ देर बाद तातियाना को भी एहसास हुआ कि उसके पति की मौत हो गई है। उसने एडर को वहीं पर छोड़ दिया। फिर वह बेटी कमरे में आई और उसने शव को देखा।

 

पुलिस को घटना की जानकारी

पुलिस को इस घटना की जानकारी दी गई। पुलिस ने पत्नी तातियाना से पूछा तो उसने कहा कि मैं अपने पति को मारना नहीं चाहती थी। झगड़े के बाद वो उसे शांत करवाना चाहती थी। लेकिन एडर चिल्ला रहा था। जिस वजह से उसने पति का मुंह बंद करने के लिए उसके ऊपर बैठने का निर्णय लिया।  इन सब में उसे पता नहीं था कि ऐसा करने से उसके पति की जान चली जाएगी। फिलहाल पुसिस घटना की जांच में जुटी हुई है। कि ऐसा अनजाने में किया गया कि जानबूझकर किया गया है।

यह भी पढ़ेSumitranandan Pant Birth Anniversary: इन पहाड़ियों पर सुमित्रानंदन पंत के कपड़े, चश्मा, कलम आज भी सुरक्षित है

Related Articles

Back to top button