IPL
IPL

12 उम्मीदवारों का निर्विरोध निर्वाचन तय, शर्मा का नामांकन खारिज

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में विधान परिषद के चुनाव में भाजपा के दस तथा सपा के दोनों प्रत्याशियों का निर्विरोध निर्वाचन तय हो गया है। दरअसल, निर्दलीय उम्मीदवार महेश चंद्र शर्मा का नामांकन (Enrollment) खारिज कर दिया गया। शर्मा के नामांकन (Enrollment) पत्र में आवश्यक 10 प्रस्तावक नहीं थे। इसके साथ ही यह सुनिश्चित हो गया है कि मतदान की जरूरत नहीं पड़ेगी, गुरुवार 21 जनवरी को सभी प्रत्याशियों के औपचारिक निर्वाचन की घोषणा कर दी जाएगी।

नामांकन के अंतिम दिन सोमवार को पर्चा दाखिल करने वाले निर्दलीय महेश चंद्र शर्मा के पास कोई भी प्रस्तावक न होने से नामांकन पत्र खारिज हो गया है। फिलहाल नामांकन पत्रों की जांच हो रही है, जबकि 21 जनवरी को नाम वापसी का अंतिम दिन है।

ये भी पढ़ें : नए कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट की कमेटी सभी हितधारकों से करेगी बात

भाजपा के सभी दस प्रत्याशियों ने सोमवार को दिन में 12 बजे अपना-अपना नामांकन किया। इसके करीब एक घंटा बाद निर्दलीय महेश चंद्र शर्मा ने नामांकन कर इस चुनाव में खलबली मचा दी थी। इसके बाद महेश चंद्र शर्मा के पर्चे में एक भी प्रस्तावक नहीं होने के कारण उनका पर्चा खारिज हो गया। विधान परिषद के चुनाव में 13वें प्रत्याशी के रूप में सामने आए निर्दलीय प्रत्याशी महेश शर्मा का नामांकन खारिज हो गया है।

ये भी पढ़ें : बढ़ते कोरोना के मामलों से निपटने का क्या होगा Biden का मास्टर प्लान

उनके पर्चे में एक भी प्रस्तावक नहीं थे। विधान परिषद के चुनाव में मुकाबले में आने के लिए नियमानुसार कम से कम 10 विधायकों के हस्ताक्षर होने चाहिए। महेश चंद्र शर्मा का दावा था कि उनके पास अपना दल के तथा निर्दलीय विधायक हैं। जब नामांकन पत्र देखा गया तो उसके प्रस्तावकों के नाम वाला बॉक्स खाली था।

Related Articles

Back to top button