बीएसएनएल बन रही लोगों का भरोसा, 12 लाख ग्राहकों ने अपना सिम कराया पोर्ट

नई दिल्ली। भारत में पिछले कुछ सालों में दिग्गज टेलीकॉम कंपनियों ने अपनी जबरदस्त पकड़ बनाई है। इन कंपनियों में एय़रटेल वोडाफो आईडिया ऐयरसेल जैसी आदि कंपनियां शामिल है। लेकिन वित्त वर्ष 2017-18 में मोबाइल नेटवर्क क्षेत्र में उपभोक्ताओं का भरोसा भारत सरकार की राज्य की स्वामित्व वाली भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) पर बढ़ा है।

इस दौरान 12 लाख मोबाइल उपभोक्ताओं ने अपने मोबाइल नंबर बीएसएनएल में पोर्ट करा लिए हैं। ‘कोलकाता टेलीफोन्स’ के मुख्य महाप्रबंधक एस.पी. त्रिपाठी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पिछले वित्त वर्ष में मोबाइल उद्योग के राजस्व संग्रह में 10 से 20 फीसदी की कमी होने के बावजूद बीएसएनएल का राजस्व संग्रह अन्य मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनियों से बेहतर रहा है।

कंपनी ने सिम कार्ड बेचने का लक्ष्य प्राप्त करने और ग्राहकों की शिकायतों का निस्तारण करने में भी अच्छा प्रदर्शन किया है। पिछले वित्त वर्ष (2017-18) में देश भर में 12 लाख मोबाइल उपभोक्ताओं ने अन्य कंपनियों को छोड़कर बीएसएनएल को वरीयता दी। उन्होंने कहा कि बीएसएनएल-कोलकाता मोबाइल्स ने नया फैमिली ब्रॉडबैंड संयुक्त ऑफर पेश किया है, जिसके अनुसार तीन मोबाइल कनेक्शनों को देश भर में किसी भी मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनी से असीमित कॉल और 1,199 रुपये के मासिक शुल्क वाला इंटरनेट प्लान उपभोक्ता द्वारा सुझाए गए परिजनों को दे दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस दौरान 40 जीबी खर्च होने तक इंटरनेट की 10 एमबी प्रति सेकेंड की दर से चलेगा तथा इसके बाद दो एमबी प्रति सेकेंड की दर से चलेगा। त्रिपाठी ने इस प्लान से कंपनी का व्यापार बढ़ने की उम्मीद जताई।

 

Related Articles