Amazon और Google पर लगा 13.5 करोड़ यूरो का जुर्माना, नियमो के उलंघन का है मामला

Amazon पर 3.5 करोड़ यूरो करीब 314 करोड़ रुपये का भारी जुर्माना लगाया है । इन दोनों पर ये जुर्माना देश के विज्ञापन कुकीज नियमों का उल्लंघन करने के लिए लगाया गया है।

नई दिल्ली: फ्रांस में डेटा निजता की निगरानी करने वाली एजेंसी सीएनआईएल ने गूगल पर 10 करोड़ यूरो (करीब 900 करोड़ रुपये) का और Amazon पर 3.5 करोड़ यूरो करीब 314 करोड़ रुपये का भारी जुर्माना लगाया है । इन दोनों पर ये जुर्माना देश के विज्ञापन कुकीज़ नियमों का उल्लंघन करने के लिए लगाया गया है।

क्या है मामला ?

कमीशन नेशनेल इनफॉर्मेटिक एंड लिबर्टीज़ (सीएनआईएल) ने एक बयान में कहा कि दोनों कंपनियों की फ्रांसीसी वेबसाइट ने इंटरनेट यूज़र्स से विज्ञापन उद्देश्यों के लिए ट्रैकर्स और कुकीज़ को पढ़ने की पूर्वानुमति नहीं ली। ये कुकीज़ और ट्रैकर्स व्यक्ति के कंप्यूटर में खुदबखुद सहेज ली जाती थी, जबकि नियम के मुताबिक इसके लिए यूज़र्स से परमिशन ली जानी चाहिए थी। एजेंसियों के मुताबिक बयान में कहा गया है कि गूगल और अमेज़न यूज़र्स को यह बताने में भी विफल रहीं कि वे इस काम के लिए इन कुकीज़ का उपयोग करेंगी, और किस तरह यूज़र्स इनके लिए मना कर सकते हैं।

आइये जानते है कुकीज़ क्या है ? जिसको लेकर दोनों कंपनियों पर जुर्माना लगा है।

Internet का प्रयोग करते समय आपने अक्सर cookies के बारे मे सुना होगा। आइये अब इसे सरल भाषा में समझते है।
माना आपने किसी शॉपिंग साइट पर कुछ सर्च किया, और उसी सर्च से जुड़े विज्ञापन अब आपके दूसरे ऐपलीकेशन पर दिखाई दे रहे है, तो इसे ही Cookies ट्रैकिंग कहां जाता है। cookies सुरक्षा व User कि सूचनाओं के लिए काम में ली जाती है । एक Web cookies इंटरनेट साइट पर अपने विक्लंपों को आगे उपयोग के लिए Save करती है।

Web Cookies के फायदे 

Cookies ये बताती है कि Internet User किसी Web Page को दोबारा देखने या खोलने के लिए वापस लौटा है।
Cookies की सहायता से Internet User का Data और Time दोनो की बचत होती है।
इसे ब्राउजिंग व्यवहार पर नज़र रखने के लिए उपयोग किया जा सकता है।
इसी वजह से इसे बनाया गया है। साथ ही आपको बतादें कि
Internet की सुरक्षा के लिए Cookies को समस्या भी माना गया है।
Cookies में ऐसे कई विकल्प है तथा हर विकल्प की कोई न कोई समस्या है।
Cookies के लिए कई बार ऐसा माना गया है कि वे Computer प्रोग्रामों को खराब कर देते है, ये एक प्रकार के वायरस होते है।
जबकि ऐसा कुछ नहीं होता Cookies केवल डेटा का टुकड़ा  होता है ।

इसी Cookies के नियम उलंघन के कारण Google और Amazon दोनों ही कंपनी मुसीबत में पड़ गई है।

फ्रांस की संस्था सीएनआईएल ने गूगल पर आरोप लगाते हुए कहा कि, उसने कूकीज की मदद से जो डेटा इकट्ठा किया था, उसके जरिए गूगल ने अनुचित तरीके से कमाई की है। जिसका सीधा असर करीब 50 मिलियन यूजर्स पर हुआ है। वहीं सीएनआईएल ने कहा कि जुर्माने की राशि नियमों के उल्लंघन के मुताबिक सटीक है।

आपको बतादें कि सीएनआईएल ने Google और Amazon को तीन महीने का समय भी दिया है।  जिसमें इन दोनों कंपनियों को अपने काम के तरीकों में बदलाव करना होगा और यूजर्स को बताना होगा कि, वह किस तरह से कूकीज के लिए मना कर सकते है। सीएनआईएल के मुबातिक निर्धारित समय सीमा में यदि दोनों कंपनियां ठोस कदम नहीं उठाती है, तो उनके उपर प्रति दिन के हिसाब से 121,095 अमेरिकी डॉलर का जुर्माना लगाया जाएगा।

यह भी पढ़े: अलवर में हेड कांस्टेबल का शव मिलने से फैली सनसनी

Related Articles

Back to top button