ट्रेन में ईरानी गैंग के दो सदस्यों से 14 लाख का सोना बरामद

गुजरात के राजकोट मंडल के टीटीई की सतर्कता से लाखों की ठगी करने वाले ईरानी गेंग के दो सदस्यों से ट्रेन में 14 लाख रुपये का सोना बरामद

राजकोट: पश्चिम रेलवे में गुजरात के राजकोट मंडल के टीटीई की सतर्कता से लाखों की ठगी करने वाले ईरानी गैंग के दो सदस्यों से ट्रेन में 14 लाख रुपये का सोना बरामद करके उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक अभिनव जेफ ने सोमवार को बताया कि राजकोट रेल मंडल के टिकट चेकिंग स्टाफ निरंजन पंडया की सतर्कता से लाखों की ठगी करने वाले कुख्यात ईरानी गैंग के दो सदस्य ट्रेन में पकड़े गए हैं जिनके पास से करीब 14 लाख का सोना बरामद हुआ है।

उन्होंने बताया कि हाल ही में 16 दिसम्बर को ट्रेन नं 02946 ओखा-मुंबई सेंट्रल सौराष्ट्र मेल स्पेशल ट्रेन के राजकोट आने के समय करीब अपराह्न सवा तीन बजे क्राइम ब्रांच के चार पुलिस स्टाफ ने ट्रेन में तैनता टीटीई निरंजन पंडया से संपर्क किया और उन्हें फोटो दिखाकर बताया कि ये दोनों चोर सोना लूट कर फरार हैं, ऐसे कोई व्यक्ति ट्रेन में दिखे तो कॉल करके सूचित करें।

दोनों संदिग्ध ईरानी यात्रियों का टिकट

सौराष्ट्र मेल ट्रेन के एसी कोच एचए-1 चेक करते समय टीटीई पंडया को सीट नं 19, 20 पर बैठे हुए दो यात्रियों पर शक हुआ। उन्होने तुरंत ही दोनों संदिग्ध यात्रियों का टिकट और पहचान पत्र चेक किया तो पाया कि इन लोगों ने आखिरी समय पर करंट टिकट बुक करवाया था। क्राइम ब्रांच द्वारा बताए गये फोटो में इन संदिग्धों का चेहरा नहीं सिर्फ उनके पीछे के कपड़े (जेकेट और टोपी) दिख रहे थे।

पंडया ने अच्छे से ऊपर की सीट पर रखा सामान चेक किया और उसी तरह के कपड़े देखे तो उन्हें पूरा विश्वास हो गया कि ये वही लोग हो सकते है जिन्हें पुलिस ढूंढ रही है। पहचान पत्र पर उनका नाम गुलाम और अब्बास था। सतर्कता से कार्य करते हुए श्री पंडया ने तुरंत पुलिस वालों को इसकी जानकारी देकर बुलाया।

पुलिस ने इन दोनों यात्रियों की कुख्यात ईरानी गैंग के सदस्यो के रूप में पहचान की तथा उन्हें गिरफ्तार कर सुरेन्द्रनगर स्टेशन पर ट्रेन से उतार लिया। इन दोनों संदिग्धों के पास से पुलिस को करीब 14 लाख रुपए का सोना बरामद हुआ। जेफ ने बताया कि राजकोट मंडल रेल प्रबंधक परमेश्वर फुंकवाल द्वारा टिकट चेकिंग स्टाफ निरंजन पंडया को इस उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया जाएगा।

यह भी पढ़े: देश में कोरोना संक्रमण का असर कम, सक्रिय मामलों की दर घटकर तीन प्रतिशत

Related Articles