लॉटरी के नाम पर कंगाल करने वाले गिरोह के 16 सदस्य गिरफ्तार

बिहार की गया जिला पुलिस ने बोधगया के एक गेस्टहाउस में छापेमारी कर ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह के 16 सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया।

गया: बिहार की गया जिला पुलिस ने बोधगया (Bodh Gaya) के एक गेस्टहाउस में छापेमारी कर ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह (Gang) के 16 सदस्यों को गिरफ्तार (Arrest) कर लिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार (SSP Aditya Kumar) ने शुक्रवार को बताया कि सूचना मिली थी कि ऑनलाइन ठगी करने वाले अपराधी जिले के बोधगया स्थित एक गेस्ट हाउस में ठहरे हुए है। ये लोग कई अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं।

सूचना के आधार पर कार्रवाई करने के लिए नगर पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। टीम ने गुरुवार देर रात गेस्ट हाउस में छापेमारी कर गिरोह (Gang) के 16 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया। इस दौरान ये लोग शराब एवं गांजा का सेवन करते हुए पाए गए। राकेश कुमार ने बताया कि इन अपराधियों के पास से दो किलोग्राम नकली सोना, 40 एटीएम कार्ड, 12 बैंक पासबुक, 45 स्मार्टफोन, 14 फर्जी स्टांप, 2500 स्क्रैच कार्ड, एक लैपटॉप, दो प्रिंटर, 1700 लिफाफा, तीन मोटरसाइकिल, एक किलोग्राम गांजा एवं शराब की बोतल, बड़ी संख्या में कॉपी, डायरी, कई कंपनियों के अधिकारी एवं कर्मचारी के नकली पहचान पत्र बरामद किये गये हैं।

ये भी पढ़ें : पाटलिपुत्र से गोरखपुर के लिए 13 जनवरी से चलेगी विशेष ट्रेन (Special Train)

ठगी के तरीकों के बारे में बताया

उन्होंने बताया कि ये लोग उन्हें निशाना बनाते थे जो लोग शॉपिंग कंपनियों से ऑनलाइन समान खरीदते थे। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने गिरफ्तार अपराधियों की ठगी के तरीकों के बारे में विस्तार से बताया कि ये ग्राहकों की विस्तृत जानकारी प्राप्त होते ही तुरंत उसका प्रिंट निकाल कर मैसेज को डिलीट कर देते थे ताकि कोई साक्ष्य ना रह जाए। बाद में ग्राहकों के पते पर एक लिफाफा में स्क्रैच कूपन और पंपलेट भेजते थे। जब ग्राहक कूपन स्क्रैच करता था तो यह समझकर की कोई लॉटरी लगी है।

ये भी पढ़ें : सरकारी भूमि पर बने पूजा स्थलों को ना हटाने पर कोर्ट सख्त, मुख्य सचिव से मांगा जवाब

लॉटरी की बात बताकर मंगाते थे ऑनलाइन पैसे

लिफाफे में दिए गए मोबाईल नंबर पर ग्राहक कॉल करते थे। ग्राहक जिस राज्य और भाषा को समझने वाला होता था, उसी भाषा के अनुसार टीम के विभिन्न सदस्य उससे बात करते थे। राकेश कुमार ने बताया कि इसके बाद ये ग्राहकों को उसे गिफ्ट या लॉटरी होने की बात बताकर उनसे ऑनलाइन पैसे मंगाते थे। इनलोगों ने पूरे होटल को ही कई माह के लिए किराए पर ले रखा था। गिरफ्तार ठगों में से अधिकांश कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु एवं कुछ युवक बिहार के नवादा जिले के रहने वाले हैं। ये लोग बोधगया में रह कर लोगो को निशाना बनाते थे। गिरफ्तार ठग खासकर कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और तेलंगाना के लोगों को निशाना बनाते थे

Related Articles

Back to top button