औरंगाबाद में ट्रेन से कटकर 16 मजदूरों की मौत, प्रधानमंत्री मोदी ने दुख जताया

औरंगाबाद: कोरोना संकट के बीच प्रवासी मजदूरों की वापसी से जुड़ी एक बेहद दर्दनाक खबर सामने आई है. महाराष्ट्र के औरंगाबाद में ट्रेन की चपेट में आकर 16 मजदूरों की मौत हो गई है. ट्रैक के रास्ते जा रहे मजदूर मालगाड़ी की चपेट में आ गए. ये हादसा सुबह करीब 6.30 बजे हुआ. खबरों के मुताबिक जालना की फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूर जालना से भूसावल जा रहे थे. मजदूरों को उम्मीद थी कि वहां से छतीसगढ़ जा पाएंगे.बताया जा रहा है कि मजदूर रेल की पटरियों के किनारे चल रहे थे और थकान के कारण पटरियों पर ही सो गए थे. जालना से आ रही मालगाड़ी पटरियों पर सो रहे इन मजदूरों पर चढ़ गई. मजदूर अपने गृह राज्य मध्य प्रदेश लौट रहे थे.

प्रधानमंत्री मोदी ने घटना पर दुख जताया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर घटना पर दुख जताया है. उन्होंने कहा कि मैंने रेल मंत्री से बात की है. प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ”औरंगाबाद में रेल हादसे की खबर से दुखी हूं. रेल मंत्री पीयूष गोयल से बात की. रेल मंत्री मामले पर नजर रखे हुए हैं. सभी जरूरी मदद की जा रही है.

रेल मंत्री बोले- राहत कार्य जारी, इन्क्वायरी के आदेश दिए
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी हादसे पर दुख जताया और जांच के आदेश दिए हैं. पीयूष गोयल ने ट्वीट किया, ”आज 5:22 AM पर नांदेड़ डिवीजन के बदनापुर व करमाड स्टेशन के बीच सोये हुए श्रमिकों के मालगाड़ी के नीचे आने का दुखद समाचार मिला. राहत कार्य जारी है, व इन्क्वायरी के आदेश दिये गए हैं. दिवंगत आत्माओं की शांति हेतु ईश्वर से प्रार्थना करता हूं.”

सीएम शिवराज ने किया मुआवजे का एलान

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना पर दुख जताते हुए मुआवजे का एलान किया है. शिवराज ने ट्वीट किया, ”औरंगाबाद में हुए रेल हादसे से हृदय पर ऐसा कुठाराघात हुआ है की मैं उसे शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता! संवेदना से मन भर जाता है… मैंने रेल मंत्री से बात की है और उनसे त्वरित जांच और उचित व्यवस्था की मांग की है.” उन्होंने आगे कहा, ”प्रदेश सरकार की तरफ़ से हर एक मृतक श्रमिक के परिजनों को पांच लाख दिए जाएंगे, और घायलों के इलाज की पूरी व्यवस्था की जाएगी. मैं विशेष विमान से उच्च अधिकारियों की एक टीम भेज रहा हूं.”

बता दें कि देशभर में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लॉकडाउन लागू किया गया है. ऐसे में एक राज्य से दूसरे राज्य तक जाने में पाबंदी है. विशेष शर्तों के साथ ही आवागमन की इजाजत है. ऐसे में दूसरे राज्यों में फंसे कई मजदूर पैदल ही अपने गृह राज्य की तरफ चल दिए हैं. हालांकि भारत सरकार ने प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के लिए श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेनें चलाईं हैं, लेकिन बावजूद इसके अभी भी पैदल चल रहे मजदूरों का सिलसिला नहीं थमा है.

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या 17,974 पहुंच गई है. राज्य में कोरोना की वजह से अब तक 694 लोगों की मौत हुई है. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में कोरोना मरीजों की संख्या 11,394 पहुंच गई है. मुंबई में अब तक कोरोना वायरस से 437 लोगों की मौत हुई है. राज्य में अब तक 3301 लोग ठीक होकर डिस्चार्ज किये गए हैं.

Related Articles