नई डिवाइस का अविष्कार, अब कार KEY से नहीं फिंगरप्रिंट से होगी START

इस फिंगरप्रिंट डिवाइस को बनाने वाले विनय की उम्र 16 साल है। 10वीं पास विनय ने सोचा कि अगर मोबाइल फिंगरप्रिंट से चल सकता है तो वाहन क्यों नहीं। बस अपनी दिमाग के इसी उथल-पूथल में उन्होंने फिंगरप्रिंट डिवाइस बना डाली।

नई दिल्ली: आज के समय में लोग काफी आगे पहुंच चुके हैं। हमारे देश ने काफी तरक्की कर ली है। लेकिन इस बार जो खबर हम आपको बताने जा रहे हैं उसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे। दरअसल एक 16 साल के छात्र ने एक ऐसी डिवाइस बनाई है जिससे आपकी कार छाबी (Key) नहीं बल्कि फिंगरप्रिंट से स्टार्ट हो जाएगी।

बता दें कि इस फिंगरप्रिंट डिवाइस को बनाने वाले विनय की उम्र 16 साल है। 10वीं पास विनय ने सोचा कि अगर मोबाइल फिंगरप्रिंट से चल सकता है तो वाहन क्यों नहीं। बस अपनी दिमाग के इसी उथल-पूथल में उन्होंने फिंगरप्रिंट डिवाइस बना डाली।

विनय द्वारा बनाई गई इस डिवाइस का इस्तेमाल सबसे पहले मोटरसाइकिल पर किया गया। जब प्रयोग सफल हुआ तो विनय ने इस डिवाइस को अपने पिता की कार में लगा दिया। कार स्टार्ट करने के लिए चाबी लगाने के साथ डिवाइस पर फिंगरप्रिंट लगानी होगी, बस फिंगर लगते ही गाड़ी स्टार्ट हो जायेगी।

यह भी पढ़ें: BB 14: अली के दिल से निकली बद्दुआ (Curse), राखी बोली ‘मैंना उड़ जाए’

लेकिन जिन लोगों के फिंगरप्रिंट इस डिवाइस में सेव नहीं होंगे, वो गाड़ी स्टार्ट नहीं चला सकेंगे। फिलहाल विनय अपनी इस डिवाइस को और बेहतरीन बनाने की कोशिश कर रहे हैं। विनय इसमें GPS लगा कर और मॉडि‍फाई करने की कोशिश कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: Stock Market: शुरुआती गिरावट के बाद नए शिखर पर बंद हुआ बाजार

इसके अलावा इसे कोई तार से स्पार्क कर स्टार्ट करने की कोशिश करेगा तो कार मालिक के मोबाइल पर मैसेज पहुंच जायगा।  डिवाइस के अनुसार अधिकतम 127 लोग वाहन को ऑपरेट कर सकते है। इस डिवाइस का खर्च सिर्फ 3000 रुपये है।बता दें कि विनय मध्य  प्रदेश के आगर मालवा जिले के रहने वाले हैं। उन्होंने ये डिवाइस जिले में हो रही चोरियों को देखते हुए बनाई है।

Related Articles

Back to top button