अच्छे परिणाम के बाद भी इनफोसिस की पिटाई जारी

मुम्बई। आईटी क्षेत्र की दूसरी दिग्गज कंपनी इनफोसिस ने भी अच्छे तिमाही परिणाम जारी किए हैं। जानकारों की उम्मीद से भी अच्छे परिणाम होने के बाद भी शुक्रवार को शेयर बाजार में इनफोसिस में मुनाफा वसूली हाबी रही।
टीसीएस बाद इन्फोसिस के रिजल्ट्स ने भी बाजार को चौंका दिया है। इन्फोसिस का अक्टूबर-दिसंबर मुनाफा तिमाही-दर-तिमाही आधार पर 2.8 फीसदी बढ़कर 3708 करोड़ रुपए हो गया है। वहीं, इस दौरान कंपनी की आय 0.20 फीसदी गिरकर 12,723 करोड़ पर आ गई है।
मुनाफा 2.8 फीसदी बढ़ा
फाइनेंशियल ईयर 2016-2017 की तीसरी तिमाही में इन्फोसिस का मुनाफा 2.8 फीसदी बढ़कर 3708 करोड़ रुपयए हो गया है। जबकि, फाइनेंशियल ईयर 2016- 2017 की दूसरी तिमाही में इन्फोसिस का मुनाफा 3606 करोड़ रुपए रहा था।
आय मामूली गिरी
फाइनेंशियल ईयर 2016-2017 की तीसरी तिमाही में इंफोसिस की आय 0.2 फीसदी घटकर 17,273 करोड़ रुपए रही है। जबकि, फाइनेंशियल ईयर 2016-2017 की दूसरी तिमाही में इंफोसिस की आय 17,310 करोड़ रुपए रही है।
डॉलर आय में गिरावट
फाइनेंशियल ईयर 2016-2017 की तीसरी तिमाही में कंपनी की डॉलर आय 2.9 फीसदी घटकर 251.1 करोड़ डॉलर रही है। जबकि, फाइनेंशियल ईयर 2016-2017 की दूसरी तिमाही में कंपनी की डॉलर आय 258.7 करोड़ डॉलर रही थी।
एबिटा मार्जिन्स बढ़े
तिमाही दर तिमाही आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में इंफोसिस का एबिट 4309 करोड़ रुपए से बढ़कर 4334 करोड़ रुपए हो गए है। तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में इंफोसिस का एबिट मार्जिन 24.1 फीसदी से बढ़कर 25.09 फीसदी रहा है।
चौथी तिमाही के लिए बढ़ाया ग्रोथ का अनुमान
इन्फोसिस ने वित्त वर्ष 2017 के लिए स्थिर करेंसी में आय में 8.4-8.8 फीसदी की ग्रोथ का अनुमान दिया है। इन्फोसिस ने वित्त वर्ष 2017 के लिए डॉलर आय की ग्रोथ का अनुमान 7.5-8.5 फीसदी से घटाकर 7.2-7.6 फीसदी कर दिया है।
जानकारों की राय
फिनेथिक वेल्थ के हेड विवेक नेगी का कहना है कि कळ सेक्टर की दिग्गज कंपनियों के नतीजे अनुमान से बेहतर रहे है। हालांकि अमेरिका और यूरोप में चिंताएं अभी खत्म नहीं हुई है। लिहाजा निवेशकों को सतर्क रहना चाहिए।
मायस्टॉकरिसर्च के हेड लोकेश उप्पल का कहना है कि इन्फोसिस और ऌउछ टेक के चार्ट लगभग एक-जैसे है। फिलहाल इन्फोसिस में ही खरीदारी करने की सलाह होगी।
इन्फोसिस में मौजूदा भाव पर और 995 रुपए का स्टॉपलॉस लगाकर खरीदारी की जा सकती है। शॉर्ट टर्म में 1063 के स्तर देखने को मिल सकता है। 15-20 रुपए का रिस्क मौजूदा भाव पर इन्फोसिस में लेना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button