रीता जोशी, राजबब्बर समेत 18 आरोपियों पर से मुकदमा वापस लेने की अर्जी, इस दिन होगा फैसला

लखनऊ: सांसद-विधायक (एमपी-एमएलए) कोर्ट के विशेष जज पवन कुमार राय ने धरना-प्रदर्शन के दौरान तोड़फोड़ व पुलिस बल पर हमला करने के एक आपराधिक मामले को राज्य सरकार की ओर से वापस लेने की अर्जी पर आदेश के लिए 20 फरवरी की तारीख तय की है। इस अर्जी पर शनिवार को अभियोजन व बचाव पक्ष की ओर से भी बहस की गई। इस मामले में रीता बहुगुणा जोशी (Rita Bahuguna Joshi), राज बब्बर (Raj Babbar), प्रदीप जैन आदित्य, अजय राय, निर्मल खत्री, राजेश पति त्रिपाठी व मधुसुदन मिस्त्री समेत 18 अभियुक्तों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया गया था।

जानें पूरा मामला

गौरतलब है कि 17 अगस्त, 2015 को इस मामले की प्राथमिकी उप निरीक्षक प्यारेलाल प्रजापति ने थाना हजरतगंज में दर्ज कराई थी। उस दिन कांग्रेस पार्टी ने लक्ष्मण मेला मैदान पर धरना-प्रदर्शन भी किया गया था। प्राथमिकी के मुताबिक करीब पांच हजार कार्यकर्ताओं के साथ अचानक यह सभी अभियुक्तगण धरना स्थल से विधान सभा का घेराव करने निकल पड़े, इन्हें समझाने व रोकने का प्रयास किया गया, लेकिन वे नहीं माने।

आम जनता को आई थी चोटें

प्राथमिकी के मुताबिक, आरोपी संकल्प वाटिका के पास पथराव करने लगे, जिससे भगदड़ मच गई। इस हमले में एडीएम (पूर्वी) निधि श्रीवास्तव, एसपी पूर्वी राजीव मल्होत्रा, सीओ यातायात अवनीश मिश्रा, एसएचओ आलमबाग विकास पांडेय व एसओ हुसैनगंज शिवशंकर सिंह समेत पुलिस के कई अधिकारी व पीएसी के कई जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। शिकायत के मुताबिक, अशोक मार्ग से आने-जाने वाले लोगों को भी चोटें आईं और कई गाड़ियों के शीशे भी टूट गए। कानून व्यवस्था छिन्न-भिन्न हो गया।

25 दिसंबर, 2015 को विवेचना के बाद पुलिस ने 18 अभियुक्तों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की कई गंभीर धाराओं व क्रिमिनल लॉ (संशोधन) अधिनियम की धारा में भी आरोप पत्र दाखिल किया था। बता दें कि रीता बहुगुणा जोशी (Rita Bahuguna Joshi) पहले उत्तर प्रदेश कांग्रेस की अध्‍यक्ष रहीं लेकिन बाद में वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं। वह मौजूदा समय में लोकसभा में भाजपा की सदस्‍य हैं। राज बब्‍बर (Raj Babbar) भी प्रदेश कांग्रेस के अध्‍यक्ष रह चुके हैं जबकि प्रदीप जैन आदित्‍य केंद्र सरकार में पूर्व मंत्री और निर्मल खत्री लोकसभा के पूर्व सदस्‍य हैं।

यह भी पढ़ें: सीएम योगी ने की रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम परियोजना के कार्यों की समीक्षा

Related Articles

Back to top button