चीनी फाइटर जेट्स ने ताइवान में भरी उड़ान, अमेरिका के नाम चीन की चेतावनी

नई दिल्लीः भारत-चीन सीमा पर बढ़ते विवादों को विराम मिलने का संकेत मिल ही रहा था कि चीन ने ताइवान का रुख कर लिया। शुक्रवार की शाम चीनी फाइटर जेट्स ताइवान की सीमा में घुस गए। वहीं चीनी रक्षा मंत्रालय ने अमेरिका और ताइवान को खुली चेतावनी भी दे डाली।

दरअसल शुक्रवार की शाम चीन के 18 फाइटर जेट्स ताइवान के हवाई क्षेत्र में घुस गए। यह घटना उस वक्त हुई जब अमेरिका के अंडर सेक्रेटरी कीथ क्रेच ताइवान की राजधानी ताइपे में मौजूद थे। क्रेच यहाँ एक सम्मेलन में शिरकत करने पहुंचे थे।

हालांकि चीनी विमानो की एंट्री के साथ ही ताइवान ने अपने एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम को एक्टिव और हाई अलर्ट पर रख दिया। जिसके फौरन बाद सभी फाइटर जेट्स वापस चीन की सीमा में लौट गए।

जेट्स के लौटने के साथ ही चीनी के रक्षा मंत्रालय के सीनियर अफसर कर्नल रेन गुओकियांग ने अमेरिका और ताइवान को एक बयान जारी कर चेतावनी दी। उन्होंने कहा “जो लोग आग से खेलने की कोशिश कर रहे हैं, वे जल जाएंगे। हमारी तरफ से यह अमेरिका और ताइवान दोनों को चेतावनी है कि वो आग से न खेलें।

गौरतलब है कि चीन ताइवान को अपने देश का हिस्सा मानता है। साल 1979 के बाद से ताइवान में अमेरिका का कोई बड़ा अधिकारी नहीं जाता था लेकिन ट्रंप के सत्ता में आने के बाद से अमेरिका ने ताइवान में एक खास दिलचस्पी दिखाना शरू कर है। ऐसा पहली बार हुआ है जब पिछले दो महीने में दूसरी बार किसी मंत्री स्तर के अफसर को ताइवान भेजा गया है। मीडिया रिपोर्टस की माने तो दोनों देशों में जल्द ही एक बड़े रक्षा समझौते होने के कयास लगाए जा रहे हैं।

आपको बता दें कि अभी तक अमेरिका ने चीन की इस चाल पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है लेकिन जाहिर है ताइवान में अमेरिका के बढ़ते कदम को लेकर चीन खासा बौखला गया है।

Related Articles

Back to top button