भारतीय जनता पार्टी के ‘संकल्प पत्र’ का “शुभ मंगल सावधान”

नवरात्र के दौरान 8 अप्रैल को बीजेपी करेगी अपने संकल्प पत्र का उद्घाटन. नवरात्र की शुभ  शुरुआत 6 अप्रैल से हो रही है. बीजेपी अपने घोषणा पत्र का नाम बदल कर उसे संकल्प पत्र कहना पसंद करती है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह के नेतृत्व में बीजेपी ने संकल्प पत्र बनाने के लिए 20 सदस्यों की कमेटी गठित की है.

चुनाव आयोग के निर्देश के मुताबिक कोई भी राजनीतिक दल मतदान से 48 घंटे पहले तक ही घोषणा पत्र जारी कर सकती है. पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होने वाला है. बीजेपी 8 अप्रैल को अपना संकल्प पत्र जारी करेगी.

बता दें कि कांग्रेस ने 2 अप्रैल को अपना घोषणा पत्र जारी किया था. पार्टी ने इसे जन आवाज नाम दिया है. कांग्रेस ने हम निभाएंगे वादे के साथ अपने घोषणा पत्र को जारी किया है.

सूत्रों के मुताबिक बीजेपी के संकल्प पत्र में राष्ट्रीय सुरक्षा और विकास का मुद्दा अहम रह सकता है. पार्टी जिन वादों के दम पर अगले 5 सालों के लिए जनता से बहुमत मांगेगी उसकी तस्वीर इस संकल्प पत्र में सामने आ सकती है. कांग्रेस की ओर से NYAY योजना की घोषणा के साथ ही बीजेपी भी अपने संकल्प पत्र को ज्यादा धारदार और लुभावना बनाने की कोशिश कर रही है. पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित किसान सम्मान योजना, सामान्य जाति के लोगों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण, आयुष्मान भारत योजना के बारे में इस घोषणा पत्र में विस्तार से चर्चा कर सकती है.

रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी संकल्प पत्र में किसानों से जुड़े मुद्दे को जोर-शोर से उठाएगी. इसके अलावा ये देखना दिलचस्प होगा कि इस बार बीजेपी घोषणा पत्र में राम मंदिर के मुद्दे पर क्या विचार रखती है.

बता दें कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने 2 फरवरी को पार्टी का संकल्प पत्र लॉन्च करने के लिए एक मुहिम शुरू की थी, इसके तहत कोई भी देश का कोई भी नागरिक नमो एप, पत्र, ई मेल, व्हाट्सएप के जरिए संकल्प पत्र पर अपनी राय बीजेपी नेतृत्व को दे सकता था.

Related Articles