भारत बंद में जुटे 21 विपक्षी दल, राहुल ने पूछा- मोदीजी चुप क्यों है?

0

नई दिल्ली: कांग्रेस की अगुआई में 21 विपक्षी दलों ने भारत बंद में एकजुट हुए। इस दौरान राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों से देश बेहाल हुआ है। पेट्रोल का दाम 80 पार हो गया है। मोदीजी पहले पूरे देश में घूमते थे। कहते थे तेल के दाम बढ़ रहे हैं। लेकिन आज इस पर चुप हैं।
बता दें पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर सोमवार को भारत बंद का आहवान किया था।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के बाद मार्च निकाला। कांग्रेस के भारत बंद का बिहार, राजस्थान, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक में असर दिखा है।

राहुल गांधी ने कहा कि आज किसानों को, मजदूरों को रास्ता नहीं दिख रहा। हिन्दुस्तान में रास्ता सिर्फ 15 से 20 पूंजीपतियों को दिख रहा है। राफेल डील पर सवाल उठाए जाते हैं, पीएम जवाब नहीं दे पाते। इसमें करोड़ों रुपए हेर-फेर हुआ है। उन्होंने कहा कि यह पैसा हिंदुस्तान की जनता का है।

नोटबंदी के जरिए इसे आपके जेब से छीना गया है। छोटे और मझोले व्यापारियों को खत्म कर दिया। देश का कालाधन सफेद हो गया। यहां एनसीपी प्रमुख शरद पवार और लोजद प्रमुख शरद यादव, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी भी राहुल गांधी के साथ थे।

हालांकि इस मंच पर सपा और बसपा का कोई प्रतिनिधी नजर नहीं आया।

भारत बंद के चलते बिहार में जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने ट्रेनों और सड़कों से गुजर रहे वाहनों में तोड़फोड़ की। विशाखापट्टनम में माकपा कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर प्रदर्शन किया। वहीं उड़ीसा के संबलपुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ट्रेनों को रोका। गुजरात में भी बंद का असर देखने को मिला।  तो वहीं मुंबई में पुलिस से हाथापाई के अरोप में कांग्रेस नेता संजय निरुपम को हिरासत में लिया गया है।

ये भी पढ़ें……‘भारत बंद’ का लखनऊ में भी दिखा असर, कांग्रेसियों ने प्रदर्शन कर बंद करवायी दुकानें

इसमें सपा, राजद, जेडीएस, राकांपा, मनसे, हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा और कम्युनिस्ट पार्टियां शामिल हैं। उधर, आम आदमी पार्टी और ओडिशा की सत्ताधारी पार्टी बीजद ने इस बंद ने इसमें हिस्सा नहीं लिया।

loading...
शेयर करें