21st June Longest day of the year : छोटे होंगे दिन और इस दिन से 6 महीनों तक लंबी होंगी रातें

लखनऊ: 21 जून को 365 दिनों का सबसे लम्बा दिन कहा गया है. भौगोलिक दृष्टि से इसके तथ्यात्मक कारणों को बताया गया है. इससे पहले आपको बता दें कि एक वर्ष में पड़ने वाले 365 दिन एक सामान नहीं होते। कभी दिन छोटे तो कभी रात छोटी होती है। कभी रात लंबी तो कभी दिन लंबे होते हैं। इसी तरह 21 जून को साल का सबसे लंबा दिन बताया गया है। इस दिन उत्तरी गोलार्ध में मौजूद सभी देशों में दिन लंबा और रात छोटी होती है। खास बात यह है कि इस दिन ऐसा पल ऐसा भी आता है जब आपकी परछाई साथ छोड़ देती है।

खगोल शास्त्रियों की माने तो 21st जून के दिन सूरज बहुत ऊंचाई पर होता है। इस दिन से रात लंबी होने लगती हैं। 21 सितंबर आते-आते दिन व रात एक बराबर हो जाते हैं। इसके बाद 21 सितंबर से रात लंबी होने का सिलसिला बढ़ने लगता है और यह प्रक्रिया 23 दिसंबर तक निरंतर होती है।

21 जून को क्यों होता है लम्बा दिन?

खगोल शास्त्रियों के अनुसार, सूर्य उत्तरी गोलार्ध से चलकर भारत के बीच से गुजरने वाली कर्क रेखा (Tropic of Cancer) में आ जाता है। इसलिए इस दिन सूर्य की किरणें धरती पर ज्यादा समय के लिए पड़ती हैं। इस दिन सूर्य की रोशनी धरती पर करीब 15-16 घंटे तक पड़ती हैं। जिसके कारण 21 जून को साल का सबसे लंबा दिन होता है। कभी-कभी 22 जून को भी दिन लम्बा होता है। 1975 में 22 जून को साल का सबसे लम्बा दिन था। अब ऐसा 2203 में होगा।

किस पल परछाई छोड़ देती है साथ?

जब सूर्य ठीक कर्क रेखा (Tropic of Cancer) के ऊपर होता है, उस वक्त परछाई कुछ पल के लिए साथ छोड़ देती है। इस दौरान घबराना नहीं चाहिए। यह पृथ्वी की एक सामान्य प्रक्रिया है।

कब होता है साल का सबसे छोटा दिन ?

21 जून को साल का सबसे लंबा दिन और 23 दिसंबर की रात सबसे लंबी और दिन सबसे छोटा होता है।

ये भी पढ़ें : Birthday On June 21st : देश-विदेश की ये पॉपुलर हस्तियाँ जिनका आज है बर्थडे

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles