बिहार चुनाव में 26 महिला उम्मीदवारों ने लहराया जीत का परचम

बिहार विधानसभा चुनाव में 26 महिला उम्मीदवारों ने दिखाया अपना दम खम

पटना: बिहार में इस बार के विधानसभा चुनाव में ताल ठोकने उतरी 26 महिला प्रत्याशी ने जीत का परचम लहराया। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के टिकट पर सर्वाधिक नौ महिला चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंची है।

26 महिला निर्वाचित

इस बार के चुनाव में 3733 प्रत्याशी चुनावी मैदान में ताल ठोक रहे थे, जिनमें महज 370 महिलायें थी, जो कुल उम्मीदवार का महज 9.91 प्रतिशत है। इस चुनाव में महज 26 महिला निर्वाचित हुयी है।

महिला प्रत्याशी पुरूषों से आगे

भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के टिकट पर सर्वाधिक नौ महिला चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंची है। वहीं, जनता दल यूनाईटेड (जदयू) की छह, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की सात महिलाओं ने चुनाव जीता है। इसी तरह कांग्रेस की दो, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) की एक-एक महिला प्रत्याशी ने चुनाव में जीत हासिल की।

महिलाओं की हितैषी होने का दावा

महिलाओं की हितैषी होने का दावा करने वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) ने इस बार के चुनाव में 37 महिलाओं को टिकट दिया था। राजग में शामिल जदयू ने सर्वाधिक 22 , भाजपा ने 13 , हम और वीआईपी ने एक-एक महिला को टिकट दिया। इनमें से भाजपा से नौ महिला रेणु देवी, श्रेयसी सिंह, निक्की हेम्ब्रम, कविता देवी, रश्मि वर्मा, गायत्री देवी, निशा सिंह, भागरथी देवी और अरुणा देवी ने जीत हासिल की।

जदयू महिला प्रत्याशी

जदयू से छह महिला प्रत्याशी मीना कुमारी, लेसी सिंह, शालिनी मिश्रा, शीला कुमारी, बीमा भारती और वीणा भारती ने जीत हासिल की। हम के टिकट पर ज्योति देवी जबकि वीआईपी के टिकट पर स्वर्णा सिंह निर्वाचित हुयी।

24 महिला चुनावी मैदान में

महागठबंधन की ओर से 24 महिला चुनावी मैदान में भाग्य आजमाने के लिये उतरी। महागठबंधन में शामिल राजद ने 16, कांग्रेस ने सात और भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी-लेनिनवादी (भाकपा-माले) ने महज एक महिला को उम्मीदवार बनाया। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने किसी महिला उम्मीदवार पर भरोसा नहीं जताया।

राजद के टिकट पर महिला उम्मीदवार

राजद के टिकट पर सात महिला उम्मीदवार वीणा सिंह, रेखा देवी, संगीता कुमारी, विभा देवी, अनिता देवी, किरण देवी और मंजू अग्रवाल ने कामयाबी का परचम लहराया। इसी तरह कांग्रेस के टिकट पर नीतू कुमारी और प्रतिमा कुमारी ने जीत हासिल की। (भाकपा-माले) की कोई महिला जीत हासिल करने में कामयाब नही हुयी।

लोजपा में महिला प्रत्याक्षी

इसी तरह लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) ने 22, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने आठ, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) ने नौ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने महज पांच महिलाओं को प्रत्याशी बनाया, जिनमें कोई महिला जीत हासिल नहीं कर सकी।

बिहार में 272 महिला उम्मीदवार

गौरतलब है कि बिहार में वर्ष 2015 के विधान सभा चुनाव में कुल 272 महिला उम्मीदवार खड़ी हुईं थी जिनमें 28 महिला निर्वाचित हुयीं। उस समय महागठबंधन में शामिल जदयू, राजद और कांग्रेस की ओर से 25 महिला प्रत्याशी को चुनाव मैदान में उतारा गया, जिनमें से 23 ने जीत दर्ज की। जदयू और राजद ने 10-10 तथा कांग्रेस ने पांच महिलाओं को उम्मीदवार बनाया था, जिनमें जदयू की नौ, राजद की सभी दस और कांग्रेस की चार महिला उम्मीदवार ने बाजी अपने नाम की थी।

चुनावी समर में महिला प्रत्याशी

चुनाव में भाजपा ने 13, उसकी सहयोगी लोजपा ने चार, हम ने चार और रालोसपा ने एक महिला प्रत्याशी को चुनावी समर में उतारा था। भाजपा की चार महिलाओं ने चुनावी जंग जीती हालांकि हम, रालोसपा के टिकट पर कोई महिला जीत हासिल नहीं कर सकीं। बोचहा(सु) से निर्दलीय प्रत्याशी बेबी कुमारी ने परिवहन मंत्री रमई राम को पराजित किया था।

यह भी पढ़े:बिहार चुनाव : 11 सीटों पर 1000 वोट से कम का अंतर, पासा पलटता तो NDA के हाथ से फिसल जाती सत्ता

यह भी पढ़े:नागालैंड सरकार ने फटाखे फोड़ने पर लगाई पाबंदी, लोगों के स्वास्थ्य पर हो सकता हैं बुरा असर 

Related Articles

Back to top button