Trending

प्रधानमंत्री रोजगार गारंटी योजना नाम पर ठगी करने के मामले में 28 आरोपी गिरफ्तार

दिल्ली| प्रधानमंत्री रोजगार गारंटी योजना के नाम पर रोहिणी जिले में लोगों को लोन देने का झांसा देने वाले गिरोह को पुलिस ने हिरासत में लिया है। सूत्रों के मुताबिक इस मामले में पुलिस ने कुल 28 लोगों को हिरासत में लिया है जिसमे 25 महिलाएं शामिल हैं।

रोहिणी जिले के डीसीपी प्रणव तायल के मुताबिक रोहिणी मामले को संज्ञान में मुन्नी देवी की शिकायत के आधार पर लिया गया है। उन्होंने बताया उनको किसी सतीश का फोन आया जिसने अपना परिचय बैंक कर्मचारी के रूप में दिया. उसने  पीएमआरजीपी के तहत 6 लाख रुपये का लोन देने की पेशकश की. योजना के अनुसार लोन में दिए गए 5 लाख रुपये लौटाए जाने थे. जबकि 1 लाख सब्सिडी के रूप में बताए गए थे।

बता दें आरोपी ने महिला को इस योजना का लाभ उठाने ले लिए ऑफर के तौर पर 21,500 रुपये ट्रांसफर करने के लिए कहा था। पीड़ित महिला जालसाज के जाल में फस गई और उसमें उसके खाते में पैसा भिजवा दिया। महिला के अनुसार पैसे ट्रांसफर होने के बाद आरोपी ने महिला का फोन उठाना बन्द कर दिया है। वहीं पुलिस ने महिला के बयान के मुताबिक तहरीर दर्ज कर ली है।

पुलिस ने महिला की शिकायत के आधार पर आरोपी व्यक्ति के बैंक खातों के डिटेल्स को खंगाला। जांच में पता चला कि ठगी का पैसा सतीश कुमार के खाते से शुभन खान के यूपीआई खाते में ट्रांसफर कर दिया गया था।

जांच के बाद पुलिस ने 11 जनवरी को पुलिस ने महेंद्र पार्क थाना क्षेत्र में  छापेमारी की, जहां से कॉल सेंटर का पता चला. इस कॉल सेंटर में 25 महिलाओं सहित कुल 28 लोग काम करते पाए गए. कॉल सेंटर चलाने वालों में योगेश मिश्रा, सुनीता शर्मा ,सुशील भारती और विजय भारती प्रमुख थे,सभी 28 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Related Articles