देश में नए कोरोना मामले 3.83 लाख, अब तक 91,78,946 मरीज हुए ठीक

देश में अब तक काेरोना के 97 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं और इस समय मात्र 3.83 लाख सक्रिय मामले हैं। अभी तक देश में कोरोना से 1़.40 लाख से अधिक लोगाें की मौतें हुई हैं और कुल 1.4़8 करोड़ कोरोना जांच की जा चुकी है।

नई दिल्ली: देश में अब तक काेरोना के 97 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं और इस समय मात्र 3.83 लाख सक्रिय मामले हैं। अभी तक देश में कोरोना से 1़.40 लाख से अधिक लोगाें की मौतें हुई हैं और कुल 1.4़8 करोड़ कोरोना जांच की जा चुकी है।

कोरोना से अब तक 91,78,946 मरीज ठीक हो गए हैं और पिछले 24 घंटों में 385 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 26567 नए मामले सामने आए और 39045 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं।

केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को यहां नियमित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश में प्रति दस लाख की आबादी में कोरोना के मामलों की संख्या 97़ 03 है और इसी तरह कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या 102 प्रति दस लाख है। देश में प्रति दस लाख की आबादी में किए जाने वाले परीक्षणों की संख्या 107 836 है।

ये भी पढ़ें : मचाडो के शानदार गोल के चलते नॉर्थईस्ट ने बेंगलुरु से 2-2 से किया मैच ड्रा

देश में कोरोना पाजिटविटी कुल दर

उन्होंने बताया कि देश में कोरोना पाजिटविटी दर कुल मिलाकर 6़ 5 प्रतिशत है और पिछले हफ्ते यह दर 3़ 2 प्रतिशत रही थी। देश में कोरोना से होने वाली मौतों की दर कुल मिलाकर 1़.45 प्रतिशत दर्ज की गई है और पिछले सप्ताह यह आंकड़ा 1़.3 प्रतिशत दर्ज किया गया था। देश में कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या में भी कमी दर्ज की गई और अब यह आंकडा प्रतिदिन 400 से नीचे आ गया है।

ये भी पढ़ें : पांड्या ने इस गेंदबाज को दे दिया मैन ऑफ द सीरीज अवार्ड, कहा-आप इसके हकदार

50 प्रतिशत मौतें 60 वर्ष और अधिक आयु के लोगों की हुई

भूषण ने बताया कि देश में कोरोना से होने वाली 87 प्रतिशत मौतें 45 वर्ष और इससे अधिक आयु वर्ग में हुई है और 50 प्रतिशत मौतें 60 वर्ष और अधिक आयु के लोगों में दर्ज की गई है। देश में इस समय कुल मिलाकर नौ कोरोना वैक्सीन पर काम चल रहा है जिनमें से तीन पूर्व क्लीनिकल चरण में हैं और छह क्लीनिकल चरण में हैं तथा इनमें से कुछ को अगले महीनों में लाइसेंस मिल सकता है। उन्हाेंने बताया कि कोरोना वैक्सीन के दो से तीन डोज की आवश्यकता है और इसे लगाने के बाद भी सावधानी बरती जानी जरूरी है।

Related Articles