सबसे बड़े टैक्‍स रिफॉर्म जीएसटी के बारे में जानें पांच महत्‍वपूर्ण बातें

0

नई दिल्‍ली। जीएसटी को लेकर पूरे देश में खलबली मची है। सरकार से लेकर जनता तक सभी लोग इसको लेकर उत्‍साहित हैं। मंगलवार को वित्‍त मंत्री ने प्रेस कॉफ्रेंस करके इस बात की जानकारी दी कि 30 जून की मध्‍यरात्रि को जीएसटी लॉन्‍च किया जाएगा। राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी यह जिम्‍मेदारी निभाएंगे।

30 जून की मध्‍यरात्रि को जीएसटी लॉन्‍च

30 जून की मध्‍यरात्रि को जीएसटी लॉन्‍च करने का कार्यक्रम

वित्‍त मंत्री जेटली ने बताया कि 30 जून व 1 जुलाई की मध्यरात्रि को ठीक 12 बजे राष्ट्रपति पूरे देश में इसे लागू करने की घोषणा करेंगे।

उन्‍होंने कहा कि जीएसटी का लांच राष्ट्रपति खुद करेंगे जिसके लिए वो अपनी सहमति सरकार को पहले ही दे चुकें हैं।

इस मौके पर मंच पर राष्ट्रपति के अलावा पीएम नरेंद्र मोदी, उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के अलावा दो पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एचडी देवेगौड़ा मौजूद होंगे। लॉन्च के बाद राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री जीएसटी पर एक घंटे की स्पीच देंगे।

दो शॉर्ट फिल्‍में भी दिखाई जाएंगी

जीएसटी के लॉन्च से पहले दो शार्ट फिल्में भी सभी सांसदों और आमंत्रितजनों को दिखाई जाएंगी। इसके अलावा संसद भवन के पूरे परिसर को भी बिजली की झालर से रोशन किया जाएगा।

पूरे देश में मनाया जाएगा जश्‍न

केंद्र सरकार गुड्स एंड सर्विस टैक्स को 1 जुलाई से लागू करने के लिए कमर कस चुकी है। इसके मेगा लॉन्च के लिए सरकार पूरे देश में जश्न का माहौल बनाना चाहती है, जैसा कि 1947 में आजादी के वक्त था। इसके लिए सरकार संसद के सेंट्रल हॉल में 30 जून और 1 जुलाई की मध्यरात्रि एक भव्य कार्यक्रम करने की तैयारी की जा रही है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि राष्ट्रपति इसको संसद के सेंट्रल हॉल में इसको लॉन्च किया जाएगा।

सबसे बड़ा टैक्‍स रिफॉर्म है जीएसटी

वित्त मंत्री ने कहा कि इस अवसर पर उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सभी राज्यों के मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता मौजूद रहेंगे। सरकार इस आयोजन के जरिए ये बताना चाह रही है कि आजादी के बाद यह सबसे बड़ा टैक्स रिफॉर्म है, जिससे लोगों की जिंदगी पर काफी सकरात्मक असर पड़ने वाला है।

loading...
शेयर करें