IPL
IPL

3089 एलटी टीचरों का रिजल्ट जारी, काउंसिलिंग 14 मार्च से

उत्तराखंड। 3089 पदों पर भर्ती हो रहे एलटी टीचरों का रिजल्ट शनिवार को घोषित कर दिया गया। हाईकोर्ट के आदेश के बाद उत्तराखंड प्राविधिक शिक्षा परिषद ने 90 फीसदी पदों के परिणाम घोषित कर दिए हैं। पहले चरण में 1500 अभ्यर्थियों को एक महीने के भीतर नियुक्ति मिल जाएगी। उत्तराखंड शिक्षा विभाग की ओर से सहायक अध्यापक (एलटी) के 3089 पदों के लिए साल 2014 में विज्ञप्ति जारी की गई थी। इसके लिए प्रदेश भर से करीब 60 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था।

 

एलटी शिक्षक

एलटी टीचरों को करना होगा इंतजार

प्राविधिक शिक्षा परिषद शनिवार को रिजल्ट तो जारी कर दिया है लेकिन शिक्षा विभाग की ओर से सभी अभ्यर्थियों को एक साथ नियुक्ति नहीं देकर तीन चरणों में नियुक्ति देने का निर्णय लिया गया है। अपर मुख्य सचिव एस राजू ने शिक्षा निदेशक को निर्देश दिया है कि स्कूलों में लगे गेस्ट टीचर्स को न हटाया जाए।

यहां देखें र‌िजल्ट – http://ubter.in/RESULTS/RESULT.ASPX

60 हजार बेरोजगारों ने किया था आवेदन
सहायक अध्यापकों के इन 3089 रिक्त पदों के लिए विभाग की ओर से 2014 में विज्ञप्ति जारी की गई थी। इसमें करीब 35 हजार बेरोजगारों ने आवेदन किया। बार-बार आवाज उठाने के बाद प्राविधिक शिक्षा परिषद ने एक साल बाद 29 मार्च 2015 को लिखित परीक्षा कराई, लेकिन अभी तक रिजल्ट घोषित नहीं किया।

नहीं हटाए जाएंगे गेस्ट टीचर
गेस्ट टीचर के लिए खुशी की बात है कि उन्हें हटाया नहीं जाएगा। गेस्ट टीचर के न हटाए जाने से इन सहायक अध्यापकों को नियुक्ति तीन चरणों में मिलेगी। अपर मुख्य सचिव एस राजू ने शिक्षा निदेशक आरके कुंवर को जारी निर्देश में कहा है कि सहायक अध्यापकों के सीधी भर्ती के पदों की तैनाती तीन चरणों में की जाए और अतिथि शिक्षकों की सेवाएं यथावत रखी जाए।

दायर की गई थी याचिका
बार-बार आवाज उठाने के बाद भी प्राविधिक शिक्षा परिषद ने सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा का रिजल्ट घोषित नहीं किया तो हल्द्वानी (नैनीताल) निवासी रज्जन कफल्टिया ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की। याचिका पर सुनवाई करते हुए आठ जनवरी 2015 को हाईकोर्ट ने 30 जनवरी तक 90 प्रतिशत रिजल्ट घोषित करने के निर्देश दिए। इसके बाद सरकार के पास रिजल्ट घोषित करने के अलावा कोई चारा नहीं बचा था। परिषद से चयनित इन शिक्षकों को सरकार ने अब चरणबद्ध नियुक्ति देने का फैसला लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button