IPL 2018: खतरे में कोलकाता और चेन्नई का मैच, इस वजह से पड़ सकता है खलल

चेन्नई। तमिलनाडु में इण्डियन प्रीमियर लीग के मैचों को लेकर विवाद कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। करीब एक हफ्ते से हफ्ते से कावेरी नदी के जल बटवारे को लेकर प्रदर्शन कर रहे तमिल संगठनों ने मंगलवार को चेन्नई में एमए चिदंबरम स्टेडियम के बाहर प्रदर्शन करने की धमकी दी है।

 

 

 

 

 

 

 

 

आईपीएल के 11वें संस्करण के मैचों के खिलाफ मिल रही धमकियों को मद्देनजर रखते हुए चेनई सरकार के तरफ से स्टेडियम में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने कावेरी नदी के जल के बंटवारे में तमिलनाडु के हिस्से का पानी घटा दिया और कर्नाटक का हिस्सा बढ़ा दिया था। इसके अलावा कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड का अभी गठन नहीं हुआ। इन बातों को लेकर तमिलनाडु में विरोध प्रदर्शन जारी है।

अधिकारियों के अनुसार, ऐसे में इस मैच की सुरक्षा के लिए करीब 4,000 पुलिस सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। चेन्नई की टीम शाम को आठ बजे कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ एम.ए. चिदंबरम स्टेडियम में उतरेगी।

वही कुछ कुछ राजनीतिक पार्टियों ने भी इस मैच का आयोजन रद्द करने की बात कही है। इससे पहले, द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम (डीएमके) के नेता एम.के. स्टालिन ने कहा था कि वह आईपीएल मैचों के आयोजन के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन आयोजकों को लोगों की समस्याओं को समझना चाहिए और उसके हिसाब से कदम उठाना चाहिए।

इसके अलावा, तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) ने दर्शकों को मोबाइल फोन, रीमोट कंट्रोल वाली गाड़ी की चाबियां या किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रानिक उपकरणों को लाने से इनकार कर दिया है।

दर्शक मैच के दौरान स्टेडियमों में किसी प्रकार का बैग, पेज, रेडियो, डिजिटल डायरी, लैपटॉप, कम्प्यूटर, टैप-रिकॉडर और दूरबीन भी नहीं ले जा पाएंगे।

Related Articles