35 सालों से खिला रहें हैं गरीबों को 1 रूपये में खाना

0

मध्यप्रदेश: पांच रूपये में अम्मा थाली और ऐसे ही न जाने कितनी जगहों पर सस्ते रूपये में भरपेट खाना मिल रहा है। लेकिन पिछले 35 सालों विदिशा की एक समिति गरीबों को सिर्फ 1 रूपये में खाना खिला रही है।

इतना ही नहीं यहाँ मरीजों के लिए दलीय, खिचड़ी और फल भी बांटे जाते है। इस समिति की स्थापना बाद 21 सितंबर 1983 को मारवाड़ी धर्मशाला के एक कमरे में हुई थी।

आपातकाल के समय शुरू की थी ऐसी व्यवस्था

गरीबों को भोजन कराने का विचार आपातकाल के दौरान ही आया था। संघ से जुड़े होने के कारण उस दौरान शाखाएं बंद हो चुकी थीं। समाजसेवा से जुड़े होने के चलते कुछ साथियों के साथ गरीब बस्तियों में जाकर हर रविवार को फल या मिठाई बांटते थे।

इन्हीं बस्तियों में गरीबों की हालत देखकर सस्ता भोजन उपलब्ध कराने का विचार आया। यहां एक रूपए में मरीजों और गरीबों को भोजन कराने की व्यवस्था की गई। हालांकि बाद में यह व्यवस्था अस्पताल के रोगियों और उनके परिजनों के लिए ही सीमित कर दी गई।  प्रशासन के सहयोग से समिति ने जिला अस्पताल परिसर में ही भोजनालय बनाया।

10 से 12 रुपए थाली की लागत

समिति के संस्थापक अध्यक्ष रहे रामेश्वर दयाल बंसल के मुताबिक हर रोज भोजनालय में सुबह और शाम 250 से 300 लोग भोजन करते हैं। एक थाली पर 10 से 12 रुपए का खर्च आता है।

 

 

 

 

 

loading...
शेयर करें