37 दिन बाद आज विकास दुबे की अस्थियां लेने पहुचे बड़े बेटे के साथ पत्नी ऋचा

उत्तर प्रदेश में कानपुर के विकरु कांड के आरोपी और गैंगस्टर विकास दुबे को पिछले 10 जुलाई को यूपी एसटीएफ ने एनकाउंटर में मार गिराया था.अब 37 दिन बाद विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने कानपुर में भैरव घाट से उसकी अस्थियां ले ली हैं. इस दौरान मीडियो से ऋचा ने दूरी बनाए रखी.सोमवार दोपहर बड़े बेटे और वकीलों के साथ ऋचा कानपुर में भैरव घाट पहुंची और पति की अस्थियां उन्होंने लीं. इसके बाद विकास दुबे के मृत्यु प्रमाणपत्र लेने नगर निगम दफ्तर भी गईं लेकिन यहां कागजी कार्रवाई में देरी के चलते उन्हें बिना प्रमाणपत्र के ही लौटना पड़ा.

10 जुलाई को एनकाउंटर में मारा गया था विकास

बता दें 2/3 जुलाई को विकरु गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करने के बाद विकास दुबे और उसके साथी फरार हो गए थे. बाद में उसने उज्जैन, मध्य प्रदेश में सरेंडर कर दिया. इसके बाद कानपुर लाते समय एसटीएफ की गिरफ्त से विकास दुबे ने फायरिंग कर भागने की कोशिश की, जिसमें पुलिस टीम ने उसे मार गिराया था.

वकीलों के साथ पहुंची भैरव घाट

इसके बाद भैरवघाट विद्युत शवदाह गृह पर उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया था. करीब महीने भर बाद सोमवार दोपहर विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने अपने बड़े बेटे और वकीलों के साथ भैरवघाट स्थित बिजली शव दाह गृह पहुंचकर विकास की अस्थियां लीं. इसके बाद वह वहां से निकल गईं. भैरव घाट से मिली जानकारी के अनुसार वाराणसी या हरिद्वार में अस्थियां प्रवाहित की जा सकती हैं.

Related Articles