39 साल का यह युवा नेता बनेगा राष्ट्रपति

पैरिस। फ्रांस के अगले नए राष्ट्रपति के तौर पर 39 साल के इमैनुएल मैकरॉन चुन लिए गए हैं। रविवार को हुई वोटिंग में उन्होंने अपनी प्रतिद्वंद्वी मैरीन ले पेन को हरा दिया है। फ्रांस की जनता ने उन्हें अपना प्रेसिडेंट चुन लिया है। राष्ट्रपति पद के इस चुनाव में मैक्रॉन का मुकाबला धुर दक्षिणपंथी 48 वर्षीय मरीन ले पेन से था।

29 साल के इमैनुएल मैकरॉन

29 साल के इमैनुएल मैकरॉन ने मरीन ले पेन की दी मात

मेट्रोपोलिटन फ्रांस के 4.7 करोड़ वोटर्स ने स्थानीय समयानुसार 8 बजे मतदान शुरू किया था। वोटिंग के लिए 70000 मतदान केंद्र बनाए गए। मतदान शाम सात बजे तक जारी रहा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मैक्रॉन के लगभग 64 फीसदी वोटों के साथ जीतने का संभावना जताई गई है। इस मौके पर मैक्रॉन ने कहा कि फ्रांस के लंबे इतिहास में एक नया अध्याय शुरू हो रहा है।

उन्होंने कहा, ‘मैं चाहता हूं कि यह एक आशा और विश्वास बनकर उभरे।’ अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने भी मैक्रॉन को बधाई दी। जर्मनी की चांसलर ऐंजेला मर्केल ने भी फोन करके उन्हें बधाई दी। राष्ट्रपति चुनाव के लिए मैदान में उतरे 11 उम्मीदवारों में से पहले चरण में मैक्रॉन शीर्ष पर रहे और दूसरे दौर के रन ऑफ चुनाव में शामिल मैरीन ल पेन और मैक्रॉन ने मतदाताओं के समक्ष फ्रांस से जुड़े अलग-अलग मुद्दों को उठाया था। ये दोनों ही नेता बिल्कुल अलग राजनीतिक विचारधारा वाले हैं।

खबरों के मुताबिक, मैक्रॉन व्यापार समर्थक और यूरोपीय संघ के समर्थक हैं। उनका यह अजेंडा था कि वह 5000 बॉर्डर गार्ड्स की फोर्स बनाएंगे। मैक्रॉन के मुताबिक, फ्रांसीसी राष्ट्रीयता हासिल करने के लिए फ्रैंच भाषा जाननी जरूरी होगी। इसके अलावा फ्रांस में धर्मनिरपेक्ष मूल्यों का विस्तार उनके अजेंडे में था।

राष्ट्रपति पद के दावेदार मैक्रॉन पूर्व बैंकर

इमैनुअल एक पूर्व बैंकर हैं और यह उनके जीवन का पहला चुनाव था। मैक्रों का जन्म उत्तरी फ्रांस में हुआ था और 2012 में इन्हें राष्ट्रपति ओलांद का वरिष्ठ सलाहकार नियुक्त किया गया था। 2014 में इन्हें वित्त मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया। नवंबर 2016 में मैक्रों राष्ट्रपति के उम्मीदवार के रूप में सामने आए। इन्हें अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा का भी समर्थन मिला हुआ है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button