जहरीली शराब (Jahrili Sharab) पीने से 4 लोगों की मौत, कई लोग बीमार

छतरपुर के परेथा गांव में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत, । इस घटना के बाद प्रशासन अधिकारी जांच करने के लिए गांव में एकत्र हुए हैं

मध्य प्रदेश: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के छतरपुर में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके साथ ही शराब पीने वाले कई लोगों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। इस घटना के बाद प्रशासन अधिकारी जांच करने के लिए गांव में एकत्र हुए हैं।

जिलाधिकारी का बयान

मध्य प्रदेश के छतरपुर के परेथा गांव में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत होने की आशंका और 1 की हालत गंभीर है।

जिलाधिकारी ने बताया, कुछ लोगों की मौतें और कुछ लोगों के बीमार होने का पता चला था। मौत के कुछ कारण बताए गए हैं। जांच के निष्कर्ष के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

कच्ची शराब कैसे बनती है?

शराब को अधिक नशीला बनाने के लिए इसमें ऑक्सिटोसिन (Oxytocin) मिलाया जाता है जो मौत का कारण बनती है। कुछ जगहों पर शराब बनाने के लिए गुड़ के साथ ईस्ट और यूरिया मिलाकर इसे मिट्टी में गाड़ दिया जाता है। जिसके बाद लहन उठने पर इसे भट्टी पर चढ़ा दिया जाता है। गरम होने के बाद जब भाप उठती है तब इससे शराब उतारी जाती है। यह शराब शरीर के लिए नुकसान दायक होता है।

कच्ची शराब

शराब में घातक मिथाइल एल्कोल्हल

कच्ची शराब (kachchee sharaab) में यूरिया (Urea) और ऑक्सिटोसिन (Oxytocin) जैसे केमिल पदार्थ मिले होने के कारण शराब में मिथाइल एल्कोल्हल बन जाता है। इसी मिथाइल एल्कोल्हल (Methyl Alcohol)  के कारण लोगों की मौत हो जाती है। मिथाइल एल्कोल्हल शरीर के अंदर जाते ही बॉडी में केमि‍कल रि‍एक्‍शन (Chemical Reaction) तेज हो जाता है।  जिससे शरीर के अंदरूनी अंग (Internal organs) काम करना बंद कर देते हैं। इसकी वजह से कई बार शराब पीने वाले लोगों की तुरंत मौत हो जाती है और कुछ लोगों में यह रियेक्शन धीरे-धीरे होता है।

यह भी पढ़ेFree Coaching: UP में ‘अभ्युदय’ योजना का शुभारंभ, जानें इस योजना का लाभ

Related Articles

Back to top button