नौकरी न मिलने से हताश चार युवकों ने की आत्महत्या

0

नई दिल्ली। हमारे देश में नौकरी एक बड़ी समस्या है। जिस हिसाब से यहां आबादी है उस हिसाब से नौकरी की संख्या बहुत ही ज्यादा कम है। सरकारी नौकरी एक बड़ी बात है, आज कल प्राइवेट नौकरियां भी मिलना मुश्कल हो रहा है। इन्ही सारी समस्याओं से तंग आकर राजस्थान में चार युवकों ने आत्महत्या कर लिया। यह यूवक ट्रेन के आगे कूद गए, जिनमें से तीन की मौत हो गई और 1 गंभीर रूप से घायल है।

चश्मदीदों के माध्यम से मिली जानकारी के मुताबिक इन युवकों ने आत्महत्या से पहले यह बोला था कि नौकरी तो मिलनी नहीं तो जी कर क्या करेंगे।

बता दें कि राजस्थान के अलवर में बुधवार को 6 दोस्तों ने नौकरी ने मिलने की वजह से अपनी जिंदगी को खत्म करने का प्लान बनाया। इसके बाद चार लोग शहर के एफसीआई गोदाम के पास ट्रेन के आगे कूद गए। इनमें से 3 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक गंभीर रूप से घायल हो गया। बाकी दो दोस्तों ने अंतिम समय में आत्महत्या के लिए ट्रेन के आगे कूदने का फैसला बदल दिया, जिसके चलते उनकी जान बच गई। खबर यह भी है कि इन युवकों ने कई प्राइवेट कंपनियों में भी ट्राई किया था, लेकिन ज्यादा स्मार्ट न होने की वजह से ये युवक बार बार रिजेक्ट हो रहे थे और हताश हो चुके थे, जिसके बाद इन लोगों ने यह कदम उठाया।

आत्महत्या करने वाले युवकों में से एक सत्यनारायण मीणा ने घटना से कुछ घंटे पहले अपने फेसबुक अकाउंट पर हत्या का वीडियो- ‘माही द किलर’ को अपलोड किया था।  इस वीडियो में युवक की हत्या का दृश्य है। पुलिस के मुताबिक रानी के बालो को कलां निवासी 24 वर्षीय मनोज मीणा, बुचीपुरी निवासी 22 वर्षीय सत्य नारायण मीणा, बरेला निवासी 17 वर्षीय राज मीणा, टोडाभीम के खेड़ी निवासी 22 वर्षीय अभिषेक मीणा सूबे के अलवर में पढ़ाई कर रहे थे। बुधवार को अचानक इन 6 लोगों के दिमाग में यह बात आई कि बिना नौकरी के जिंदगी गुजारना मुश्किल है। लिहाजा मौत को गले लगा लेना अच्छा है। इसके बाद 4 दोस्तों ने यह दर्दनाक कदम उठा लिया। मामले में पुलिस का कहना है कि पूरे घटना की तफ्तीश जारी है।

loading...
शेयर करें