संयुक्त राष्ट्र में 40 देशों ने किया चीन का घिराव, बचाव में उतरा पाकिस्तान

नई दिल्लीः संयुक्त राष्ट्र में चीन बुरी तरह घिर गया है। दुनिया के कई देशों ने उइगर मुस्लमानों को लेकर संयुक्त राष्ट्र में चीन की आलोचना की है। वहीं पाकिस्तान चीन के बचाव में उतर आया है।

दरअसल संयुक्त राष्ट्र में विश्व के कुल 40 देशों ने मिलकर उइगर मुस्लमानों के मसले पर चीव पर सवाल खड़े कर दिए हैं। अमेरिका, कई यूरोपीय देशों, जापान और अन्य देशों ने चीन से संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बेचलेट और स्वतंत्र पर्यवेक्षकों को शिनजियांग प्रांत में जाने की निर्बाध रूप से अनुमति मांगी है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के मानवाधिकार समिति की एक बैठक में 39 देशों ने संयुक्त रूप से जारी किए गए बयान में कहा कि चीन द्वारा हांगकांग की स्वायत्तता, आजादी और अधिकारों को बहाल किया जाए। साथ ही वहां की न्यायपालिका की स्वतंत्रता का सम्मान किया जाए। इस बयान को जर्मनी के राजदूत क्रिसटोफ हेयूसगेन ने संयुक्त राष्ट्र में पढ़ा।

वहीं आलोचनाओं की इस कड़ी में पाकिस्तान ने चीन के कर्ज में फंसे 55 देशों की तरफ से बीजिंग का बचाव किया और हांगकांग में दखलअंदाजी का विरोध किया। पाकिस्तान ने शिनजियांग प्रांत में जाने का विरोध करते हुए कहा कि यह क्षेत्र चीन का हिस्सा है और राष्ट्रीय सुरक्षा कानून हांगकांग में चीन के एक देश, दो सिस्टम को सुनिश्चत करने का काम कर रहा है।

Related Articles