शाहीनबाग़ की दादी किसान आंदोलन में पहुँची तो पुलिस ने किया गिरफ्तार

(CAA ) प्रोटेस्ट का चेहरा और शाहीन बाग प्रदर्शन से मशहूर हुईं 82 वर्षीय दादी बिल्क़ीस बानो ने किसान आंदोलन में पहुँच कर एक बार फिर खलबाली मचा दी है।

नई दिल्लीः नागरिकता संशोधन कानून (CAA) प्रोटेस्ट का चेहरा और शाहीनबाग़ प्रदर्शन से मशहूर हुईं 82 वर्षीय दादी बिल्क़ीस बानो ने किसान आंदोलन में पहुँच कर एक बार फिर खलबाली मचा दी है। दादी बिल्क़ीस बानो एक बार फिर सुर्खियों में है,मंगलवार को वह किसानों के आंदोलन में शामिल होने के लिए सिंघु बॉर्डर (दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर) पहुंची,लेकिन दोपहर में पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। आपको बतातेदे कि बुजुर्ग महिला का आंदोलन के प्रति जज्बा और जुनून को लेकर खूब तारीफ हो रही है। वही कुछ सोशल मीडिया यूजर्स ये भी कह रहे हैं कि ये बुजुर्ग महिला पैसे लेकर कभी शाहीन बाग में आंदोलन करती है तो कभी किसान आंदोलन में पहुंच जाती है।

कैसे सुर्खियों में आई थीं दादी बिल्किस बानो

बता दें कि CAA और NRC के विरोध में पिछले साल 15 दिसंबर से शाहीन बाग में विरोध-प्रदर्शन शुरू हुआ था। उस दौरान बिल्किस बानो भी वहां नजर आई थीं। वह सुबह से रात तक कड़ाके की ठण्ड में धरना देती दिखाई देती थीं। उनके जुझारूपन के कारण उन्हें ‘शाहीन बाग की दादी’ का तमगा मिला था। बिल्किस दादी उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर की रहने वाली हैं,लेकिन वह फिलहाल अपने बच्चों के साथ दिल्ली में रह रही हैं। उनके पति खेती मजदूरी किया करते थे,जिनकी 11 साल पहले मौत हो चुकी है। आपको बतादें कि टाइम्स (Times) मैग्ज़ीन ने पिछले साल शाहीन बाग (Shaheen Bagh) प्रदर्शन के दौरान चर्चा में आईं बिल्किस दादी को साल के सौ सबसे प्रभावशाली लोगों में जगह दी थी।

हाल ही में एक बूढ़ी औरत को बताया गया था दादी बिल्क़ीस बनो

आपको बतादें हाल ही में किसान आंदोलन के दौरान दिखी एक बूढ़ी महिला मोहिंदर कौर को शाहीनबाग़ की बिल्क़ीस दादी बताया गया था। जिस पर सोशल मीडिया पर जम कर हंगामा हुआ था। किसी ने उनकी तारीफ की तो किसी ने दादी पर पैसे लेकर आंदोलन में जाने का इलज़ाम लगाया। वही बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने भी बिल्क़ीस दादी को घेरते हुए एक ट्वीट कर डाला, ट्वीट के बाद उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोल किया गया। कंगना ने अपने ट्वीट में लिखा था,कि देहाड़ी के हिसाब से दादी से काम करवाया जाता है। जिसपर पंजाब के ज़ीरकपुर के एडवोकेट हाकम सिंह ने दूसरी महिला मोहिंदर कौर को शाहीनबाग़ की दादी गलत बताते हुए उस ट्वीट पर कंगना को कानूनी नोटिस भेजा है। इस मामले में कंगना को माफ़ी मांगने के लिए 7 दिन का समय भी दिया गया है। जिसमे मानहानि का मुकदमा चलाया जाएगा।

यह भी पढ़े:देश में कोरोना को मात देने वालों की दर 94 प्रतिशत बढ़ी, सक्रिय मामलों में गिरावट दर्ज

Related Articles

Back to top button