मुसाफिरों के साथ धोखाधड़ी करने वाले ठग गैंग के 5 लोग गिरफ्तार, ट्रेवल एजेंट बनकर करते थे ठगी

 

गैंग के 5 लोगों को पकड़ा
गैंग के 5 लोगों को पकड़ा

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे गैंग के 5 लोगों को पकड़ा है जो मुसाफिरों के साथ घुल-मिलकर उन्हें बस या ट्रेन का टिकट दिलाने के बहाने उनके साथ ठगी करते थे.

उत्तरी पश्चिमी दिल्ली की डीसीपी विजयन्ता आर्या ने बताया कि 6 अक्टूबर को संजय नाम के एक शख्स ने शिकायत की थी कि वो सोनीपत से बाराबंकी अपने बेटे के साथ घर वापस जा रहा था. इसी बीच सिंधु बॉर्डर पर उतरकर वो ई रिक्शे पर बैठ गया. ई रिक्शे पर बैग लिए 4 और व्यक्ति बैठ गए. उन्होंने बताया कि वो भी लखनऊ जा रहे हैं. बातों बातों में उन्होंने संजय और उसके बेटे से दोस्ती बना ली.

फिर ठगों ने कहा कि बस का टिकट जहांगीरपुरी से एक ट्रेवल एजेंट से ले लेते हैं जो उनका परिचित है. संजय भी उनके झांसे में आ गया और जहांगीरपुरी पहुंचकर उसने अपना एटीएम कार्ड एक पांचवें शख्स को दे दिया जो ट्रेवल एजेंट बनकर आया था. उसे पिन नंबर भी बता दिया और अपने बेटे को उसके साथ में भेज दिया.

थोड़ी ही देर बाद उसके मोबाइल पर 9 मैसेज आए और उसे पता चला कि उसके अकाउंट से 68 हजार रुपये निकल गए हैं. बेटे ने बताया कि जो शख्स खुद को ट्रेवल एजेंट बता रहा था भी वो भाग गया.

इसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों की जांच की तो आरोपियों के सुराग मिल गए. इसके बाद पता चला कि सभी आरोपी 10 अक्टूबर को हैदरपुर मेट्रो स्टेशन के पास इकठ्ठा हुए हैं. पुलिस ने अपना जाल बिछाकर सभी को पकड़ लिया. इनके पास भारी मात्रा में यात्रियों से छीना गया सामान भी बरामद हुआ है. आरोपियों के नाम संजय यादव, लाल बाबू साहनी, संतोष कुमार, राकेश मंडल और राजीव मंडल है. ये लोग कई बार टीटीई बनकर भी लोगों को ठगते थे. उस गैंग के पकड़े जाने से 27 से ज्यादा वारदात का खुलासा हुआ है.

यह भी पढ़े: आजमगढ़ में बाइक सवार तीन युवकों पर चाकू से हमला, दो की मौत, एक की हालत गंभीर

Related Articles