कड़कड़ाती ठंड, 5 हजार लोग और स्विच ऑफ

0

utt-light-2

देहरादून (त्यूनी)। ऊर्जा निगम की हीलाहवाली त्यूनी में सिलगांव खेत के 12 गांव के वाशिदों पर भारी पड़ रही है। यहां पांच दिन से विद्युत नहीं है। लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। विभागीय सुस्ती का आलम यह है कि पांच दिन बाद भी कर्मचारी लाइन में आए फॉल्ट को नहीं ढूंढ सके हैं। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत क्षेत्रीय विधायक और कैबिनेट मंत्री प्रीतम सिंह से भी की है।

utt-light-3

बता दें कि पांच दिन पूर्व लाइन में फॉल्ट आ गया था। तब से कथियान, डांगुठा, भटू, फनार, ऐठाड़, छजाड़, ओभराशेर, भटाड़, डेरनाड़, ओगेंडी समेत 12 गांवों में लाइट नहीं है। कड़ाके की ठंड के बीच करीब पांच हजार की आबादी को अंधेरे में रात गुजारनी पड़ रही है।

utt-light-5

शाम ढलते ही गांव में अंधेरा पसर जाता है। लोगों को रोशनी के लिए बैटरी लाइट और जोक्टी का सहारा लेना पड़ रहा है। विद्युत न होने से रोजमर्रा के कामकाज भी प्रभावित हो रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि पहाड़ी दीवाली का त्यौहार भी अंधेरे में ही गुजरा। बिजली ने त्यौहार का उल्लास कम कर दिया। ऊर्जा निगम के एसडीओ संजय कुमार ने कहा कि फॉल्ट माइनर होने के कारण अभी तक नहीं मिल सका है। लाइनमैन लगातार पेट्रोलिंग कर रहे हैं। तेजी से बिजली बहाली का प्रयास किया जा रहा है। और उम्मीद है कि जल्द ही विद्युत आ जायेगी।

loading...
शेयर करें