क्या एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है ब्लैक फंगस? जानिए पूरी डिटेल

अगर हॉस्पिटल में एक बेड पर ब्लैक फंगस का मरीज लेटा है तो पास वाले दूसरे मरीज को इससे खतरा नहीं है।

नई दिल्ली: देश में कोरोना की महामारी तो नाक में दम किया ही था। अब नई बिमारी ने  मुसीबत बढ़ा दी है। ब्लैक फंगस नामक की बिमारी देश के लगभग सभी राज्यों में पैर फैला रही है। यूपी में भी इस बिमारी से संक्रमित मरीज हर दिन मिल रहें है। इस बीमारी से दर्जनों लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच सवाल उठने लगा है कि क्या ब्लैक फंगस लोगों में कोरोना वायरस महामारी ( COVID Pandemic ) की तरह फैल रहा है।

यानी अगर किसी शख्स को ब्लैक फंगस है तो क्या उससे दूसरा व्यक्ति भी बीमारी की चपेट में आ सकता है? क्या हवा के जरिए ये बीमारी किसी स्वस्थ व्यक्ति को अपना शिकार बना सकती है? ऐसे ही कई सवालों के जवाब विशेषज्ञों ने दिए हैं।

आपको बता दें कि अगर किसी व्यक्ति को ब्लैक फंगस है तो उसके जरिए किसी दूसरे व्यक्ति को इस बीमारी संभावना नहीं है। जी न्यूज के एक कार्यक्रम में सर गंगाराम हॉस्पिटल के सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर पीयूष रंजन ने ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अगर हॉस्पिटल में एक बेड पर ब्लैक फंगस का मरीज लेटा है तो पास वाले दूसरे मरीज को इससे खतरा नहीं है।

KGMU में वायरोलॉजिस्ट डॉक्टर सुरुचि शुक्ला ने बताया कि होम आइसोलेशन वाले मरीजों में कोरोना के बहुत कम लक्षण हैं। इसके अलावा उन्हें ब्लैक फंगस बीमारी होने की संभावना बहुत कम है। हालांकि उन्होंने स्टेरॉयड ( steroids ) के इस्तेमाल के प्रति लोगों को आगाह भी किया। उन्होंने कहा कि अगर किसी मरीज का ऑक्सीजन लेवल सामान्य है और कोरोना के मामूली लक्षण हैं उन्होंने ये दवा लेने की जरुरत नहीं है।

यह भी पढ़ें: UP में COVID-19 के 6,046 नए केस, मीडियाकर्मियों/जजों के लिए अलग से Vaccination का इंतजाम

Related Articles