महिलाओं के साथ होने वाली हिंसा को रोकेगी ‘5 डी’ रणनीति, ब्रेकथ्रू ने आयोजित की कार्यशाला

लखनऊ: महिलाओं के साथ सार्वजनिक जगहों पर होने वाली हिंसा को कैसे रोका जाए और ‘5 डी’ रणनीति इसमें कैसे मददगार साबित हो सकती है? इस मुद्दे पर सोमवार को ब्रेकथ्रू और लॉरियल पेरिस के अभियान ‘स्टैंडअप अगेंस्ट स्ट्रीट हैरेसमेंट’ के अंतर्गत महाराजा बिजली पासी डिग्री कॉलेज में एक कार्यशाला आयोजित की गई। इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि डीसीपी रुचिता चौधरी शामिल हुई। कार्यक्रम में लगभग 200 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि डीसीपी रुचिता चौधरी ने प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाओं के साथ होने वाली हिंसा को रोकने के लिए हम सभी को व्यक्तिगत और संस्थागत दोनों तरह से प्रयास करने की जरूरत है किसी एक के प्रयास से महिलाओं के साथ होने वाली हिंसा को नहीं रोका जा सकता।

उन्होंने कहा कि सार्वजनिक जगहों को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका बायस्टेंडर की है,उसे घटना के समय मूकदर्शक बन के नहीं रहना है उसे हिंसा को रोकने के लिए हस्तक्षेप करने के जरूरत है,लेकिन खुद की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखते हुए।

जरूरत इसे समझने और अपनाने की

इसके लिए 5डी जैसी रणनीति बहुत मददगार साबित हो सकती है जरूरत इसे समझने और अपनाने की है। 5डी रणनीति में डिस्ट्रैक्ट (ध्यान बांटना), डेलीगेट (किसी दूसरे की सहायता लेना), डॉक्यूमेंट (रिकॉर्ड रखना), डिले (रुकावट डालना), डायरेक्ट (सीधे तौर पर रोकना) शामिल है।

5डी की रणनीति

उन्होंने प्रतिभागियों को विभिन्न उदाहरणों और वीडियो-शो के माध्यम से सार्वजनिक स्थानों पर होने वाली हिंसा को रोकने के लिए 5डी की रणनीति के बारे में बताया, जिसमें डिस्ट्रैक्ट (ध्यान बांटना), डेलीगेट (किसी दूसरे की सहायता लेना), डॉक्यूमेंट (रिकॉर्ड रखना), डिले (रुकावट डालना), डायरेक्ट (सीधे तौर पर रोकना) शामिल है। यह एक ऐसा तरीका है जिसे आसानी से लोग अपनाकर सार्वजनिक जगहों को महिलाओं के लिए सुरक्षित बना सकते हैं।

प्रिंसिपल ने कार्यक्रम की सराहना

इस अवसर पर कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. सुमन गुप्ता ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि इस प्रकार की कार्यशाला का आयोजन बढ़े स्तर पर करने की जरूरत है जिससे अधिक लोग इस मुद्दे को समझ पाएं और महिलाओं के लिए एक सुरक्षित दुनिया बनाने में अपनी भूमिका निभाने के लिए आगे आएं।

Related Articles