4G को जाइये भूल, जल्द मिलने वाली है 5G की सुविधा

0

बेंगलुरु। रिलायंस ने भारत में जियो के सहारे 4G की सेवा शुरु की। इस सेवा से उन्‍होंने पूरे भारत वर्ष को मुट्ठी में कर लिया है। लेकिन एक बात यहां आपको बता दिया जाए कि जल्‍द ही 4G के दिन लद जाएंगे क्‍योंकि भारत में 5G शुरु होने वाला है।

5G

जल्‍द मिलेगी 5G की सुविधा

भारत को अमेरिका और यूरोप सहित शेष दुनिया के साथ 5G मिलने की संभावना है। यह बात दूरसंचार सचिव जेएस दीपक ने कहा। उन्‍होंने कहा कि हम इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) में प्रवेश कर रहे हैं, ऐसे में इस बात की संभावना है कि देश को 5जी शेष दुनिया के साथ मिले।

25 साल बाद मिली 4G की सेवा

दूरसंचार सचिव दीपक ने कहा कि हमें 2जी शेष दुनिया से 25 साल बाद मिला। इसी तरह हमें 3जी उस समय मिला, जबकि एक दशक पहले यह अमेरिका और यूरोप पहुंच चुका है। इसी तरह 4जी उसे वैश्विक रूप से पेश किए जाने के पांच बरस बाद हमारे पास पहुंचा। 5जी के मामले में ऐसी संभावना है कि यह हमें शेष दुनिया के साथ ही मिलेगा।

आईओटी इंडिया कांग्रेस के उद्घाटन में कही यह बातें

उन्‍होंने कहा कि 5जी की शुरुआत शेष दुनिया और भारत में साथ-साथ हो सकती है। इससे हमें पहले से चल रहे अंतर को पाटने में मदद मिलेगी। ऐसा भी संभव है कि भारत एक कदम आगे बढ़ते हुए कुछ क्षेत्रों में अग्रणी स्थान हासिल करे, क्‍योंकि हम कनेक्‍टेड उपकरणों तथा मशीनों के साथ आईओटी में प्रवेश कर रहे हैं। दीपक ने पहली आईओटी इंडिया कांग्रेस के उद्घाटन के बाद ये बातें कहीं।

50 अरब होगी कनेक्‍टेड उपकरणों की सुविधा  

उन्‍होंने कहा कि आईओटी से अगले पांच-छह साल में कनेक्‍टेड उपकरणों की संख्या 50 अरब हो जाएगी। इससे भारत को कम से कम 15 अरब डॉलर के कारोबारी अवसर मिलेंगे। इस सम्मेलन में केंद्रीय इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने रिकॉर्ड किए वीडियो संदेश में कहा कि आईओटी इसलिए महत्वपूर्ण है क्‍योंकि कनेक्‍टेड उपकरण आज समय की जरूरत हैं।

loading...
शेयर करें