मैगजीन में मिली 9 गोली, दसवीं लगी थी आरपीएफ दारोगा के सीने में

लखनऊ में आलमबाग थाना क्षेत्र में मवैया रेलवे क्रॉसिंग के पास आरपीएफ में तैनात एक सब इंस्पेक्टर का शव मिला है। शव मिलने के बाद से इलाके में हड़कंप मच गया है।

लखनऊ: यूपी की राजधानी लखनऊ में आलमबाग थाना क्षेत्र में मवैया रेलवे क्रॉसिंग के पास आरपीएफ में तैनात एक सब इंस्पेक्टर का शव मिला है। शव मिलने के बाद से इलाके में हड़कंप मच गया है। शव मिलने की जानकारी लगने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घटना स्थल पर देखा की सब इंस्पेक्टर के सीने पर गोली लगी है और वहां से उनकी सर्विस पिस्टल भी मौजूद थी। पुलिस ने शव को आरपीएफ के हवाले कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक मृतक दरोगा की पहचान दिल्ली के बदरपुर के रहने वाले 35 वर्षीय पूरन सिंह नेगी के रूप में हुई है। मृतक आरपीएफ के सीबीआई शाखा में उपनिरीक्षक के पद पर कार्यरत थे। वह मौजूदा समय में आलमबाग के सरदारीखेड़ा में अकेले रह रहे थे। उनकी रात्रि की ड्यूटी चारबाग रेलवे स्टेशन पर थी।

रात में वो ड्यूटी करके करके चले गए, लेकिन सुबह वापस ड्यूटी पर नहीं पहुंचे। उसके बाद जब उनके मोबाइल पर कॉल किया फोन नहीं उठाया जा रहा था। इसी बीच मवैया रेलवे क्रॉसिंग के पास सुबह उनका खून से लथपथ शव मिलने की सूचना मिली।

ये भी पढ़ें : महंत नृत्य गोपाल दास की तबियत में सुधार, अस्पताल से डिस्चार्ज होकर पहुंचे अयोध्या

घटना स्थल से ये हुआ बरामद

पुलिस ने बताया कि प्रथमदृष्टि से लगता है कि दारोगा ने खुद को सर्विस रिवाल्वर से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। मृतक पूरन सिंह नेगी के सीने पर एक गोली लगी हुई थी, वहां उनकी सर्विस पिस्टल, मोबाइल और मैगजीन में 9 गोलियां मिलीं, जबकि एक गोली उनके सीने में धंसी हुई थी।

ये भी पढ़ें : लुईस मरांडी ने दिया करारा जवाब, नहीं रोक सकते बलात्कार तो चूड़ियां पहन ले हेमंत सरकार

पुलिस ने परिजनों को दी सूचना

इंस्पेक्टर आलमबाग प्रदीप सिंह ने बताया कि परिजनों को इस घटना की सूचना दी गई है, उनके आने के बाद कुछ जानकारी मिल सकती है। उनके परिजन जो तहरीर देंगे उसी के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। दरोगा पूरन सिंह के परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं।

Related Articles

Back to top button