पंचायत चुनाव : ठंड में 90 फीसदी वोटिंग से बढ़ी गर्मी

roorkee

हरिद्वार। हरिद्वार पंचायत चुनाव के दूसरे चरण में रविवार को बहारदाबाद और भगवानपुर ब्लॉक में उत्साह के साथ मतदान हुआ. बूथों पर मतदान सुबह आठ बजे शुरू होना था, लेकिन सुबह सात बजे ही लोग लाइन में लगने लगे थे.देर रात तक चले मतदान में शाम चार बजे तक बहादराबाद ब्लाक में 72 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. जिला निर्वाचन अधिकारी हरबंस चुघ ने बताया की कुछ जगहों पर अभी भी मतदान जारी है. 80 प्रतिशत मतदान लगभग हो चुका है और उम्मीद है की ये 90 प्रतिशत तक जाएगा.

शांतिपूर्ण रहा चुनाव

पंचायत चुनाव का दूसरे चरण मंडे को वैसे तो शांतिपूर्ण तरीके से निपट गया, मतदान के लिहाज से संडे को मौसम ने भी खूब साथ दिया. सुबह दस बजे तक बहादराबाद में 15 फीसदी लोग मतदान कर चुके थे. इसके बाद बूथों पर मतदाताओं की कतार धीरे-धीरे लम्बी होती गई. दोपहर 12 बजे तक 34.5 प्रतिशत लोगों ने मताधिकार का प्रयोग किया. दोपहर दो बजे तक बहादराबद में 54 प्रतिशत शाम पांच चार तक 72 प्रतिशत मतदाता वोट डाल चुके थे. ईवीएम के बजाए मतपत्रों से चुनाव होने के कारण बूथों पर मतदान की गति काफी सुस्त रही. इसके चलते दो दर्जन से अधिक बूथों पर रात आठ बजे तक मतदान होता रहा. जिला नियंत्रण कक्ष से मिली रिपोर्ट के 72 फीसद मतदान हुआ है.

अब पुलिस ने तीसरे चरण के चुनाव की तैयारी करनी है. एसएसपी सेंथिल आबुदई ने बताया की चुनाव के साथ 5 जनवरी को होने वाले मतगणना के काम की तैयारी की जायेगी. किसी तरह का कोई विवाद न हो इसके लिए थानों को भी अलर्ट पर रखा जाएगा.

 कांग्रेस, भाजपा और बसपा ने झोंकी ताकत

अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से ऐन पहले पड़े हरिद्वार पंचायत चुनाव में कांग्रेस, बसपा व भाजपा ने पूरी ताकत झोंक रखी है. आचार संहिता लगने से पहले हुए सीएम के ताबड़तोड़ दौरे और मंत्रियों तक को चुनाव में उतार देने के चलते पूरे उत्तराखंड में इस चुनाव की चर्चा होने लगी है. वहीं इससे तिलमिलाई भाजपा भी इसे प्रतिष्ठा से जोड़कर अध्यक्ष पद हथिया लेने का दावा करने से नहीं चूक रही है. मगर सच तो यह है कि संडे को पंचायत चुनाव के दूसरे चरण में पड़े मतों और उसके रुझान को भांपने में सियासी दलों की हर कोशिश बेकार गई.

समर्थित उम्‍मीदवार ज्‍यादा

दूसरे चरण में बहादराबाद में  पार्टियों के सिंबल के बजाए स्वतंत्र रूप से होने वाले इस चुनाव में कांग्रेस, बसपा, भाजपा व सपा तक ने अपने समर्थित उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं. पूरी तरह से इलाकाई मुद्दों पर होने वाल इस चुनाव को कांग्रेस व बसपा ने अपनी प्रतिष्ठा से जोड़ लिया है. पिछले पंचायत चुनाव सीटों की अंकगणित का दंश झेल चुकी भाजपा ने पूरा दम लगा रखा है. हालांकि संडे को दूसरे चरण के मतदान वाले बूथों कांग्रेस व बसपा के खेमों के स्थानीय नेता लाइन में लगने वाले मतदाताओं के चेहरे को पढ़ने की कोशिश करते रहे, मगर देर शाम मतदान खत्म होने तक वह किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सके. बूथों पर भाजपा नेताओं के दिखने की थोड़ी कमी जरुर दिखी, लेकिन उनके खेमे के एजेंट मतदाताओं की नब्ज पकड़ने की अंत तक कोशिश करते रहे. वोटरों के बीच होने वाली चर्चाओं से भी वोटरों का रुख समझने की कोशिश की गई, ताकि बाकी बचे चरणों के मतदान के लिए चुनावी बयार अपने पक्ष में की जा सके, लेकिन होशियार मतदाताओं के सामने सियासी माहिरों की एक न चली.

समर्थकों में भिडंत 
बहादराबाद ब्लॉक के राजकीय प्राथमिक विद्यालय खेलड़ी के बूथ न. 86 पर  प्रधान पद के प्रत्याशी रूपेश चौहान के समर्थको ने किया हंगामा. मतदाता के साथ अन्य व्यक्ति को मतदान के लिए भेजने पर समर्थको ने जताई नाराजगी. मौके पर पहुंची पुलिस ने कराया मामला शांत. पुलिस कर्मियो ने उच्चाधिकारियों को सूचना दी. आरोप है की प्रधान पद के प्रत्याशी प्रवीन चौहान के समर्थक मतदाताओ के साथ अपने सहयोगी को ले जाकर गलत वोटिंग कराने की कोशिश कर रहे है. वह मतदाता के साथ सुबह से ही समर्थको को भेजकर अपने पक्ष में मतदान करा रहे है.

स्टेशनरी को लेकर कर्मी हुए परेशान 
लालढांग के राजकीय इंटर कॉलेज में बने मतदान केन्द्र के लिए बने बस्ते में स्टेशनरी कम होने से पीठासीन व मतदान कार्मिकों को कुछ देर तक परेशान होना पड़ा. इसकी सूचना सेक्टर मजिस्ट्रेट को दी गई। सेक्टर मजिस्ट्रेट ने मौके पर पहुंच कर कार्मिकों को स्टेशनरी उपलब्ध कराई.

युवाओं में दिखा खासा उत्साह 
पहली बार किसी चुनाव में वोट देने को जा रहे है 18 से 20 साल तक के वोटरों में खासा उत्साह देखने को मिला. सुबह सबसे पहले कामकाज में जाने वालों के बाद युवाओं की भारी भीड़ दिखाई दी. लड़कियां भी लड़कों से पीछे नही रही. सुबह जल्दी ही काम काज निपटाने के बाद महिलाओं ने अपने मत का प्रयोग किया. निधि मिश्रा अपने वोट को देते समय उत्साह से लेबरलेज दिखी. उनके मुताबिक वह पहली बार अपने मत का प्रयोग करने जा रही है. वह गांव के विकास के लिए अपना मत का प्रयोग कर रही है. रश्मि मिश्रा भी पहली बार अपना वोट देने जा रही है. उन्होंने कहा कि वोट हमारा मानवता का अधिकार है. वह कहती है कि गांव लालढ़ांग अभी मूलभूत सुविधाओं को तरस रहा है. कहा पहली बार मत डालने का अधिकार मिलने के साथ मतपत्र पर वोट डालने का दोहरा अनुभव मिल रहा है. मिंटों के अनुसार उन्हें भी पहली बार वोट का अधिकार मिला है. इसे लेकर काफी उत्साह है. पूजा रावत ने कहा कि पहली बार वोट डालने का हक मिला है, उनका वोट महिला सशक्तिकरण व विकास करने वाले उम्मीदवार को जाएगा.

दौड़ती रही अधिकारियों की गाड़ी 
दूसरे चरण में हो रहे पंचायत चुनाव के मतदान को शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने को लेकर लक्सर व खानपुर ब्लाकों में पचायत चुनाव को लेकर अधिकारियों की गाड़ियां दौड़ती रही. सैटरडे की रात से ही पुलिस अधिकारियों की गाड़ियां गांव गांव में धूमती दिखी. प्रत्येक मतदान केंद्र में भारी पुलिस बल तैनात रही. डीएम हरवंश सिंह, एसएसपी सैंथिल अबुदई कृष्णराज एस, सीडीओ सोनिका के अलावा जोनल वव सेक्टर मजिस्ट्रेटों की गाड़ियां सुबह से ही सड़कों पर दौड़ती रही. पंचायत चुनाव की तैयारियों को लेकर प्रशासन व पुलिस का रवैया शुरू से ही निपटाने वाला रहा. निर्वाचन आंकड़ों की गुणा-गणित में परेशान रहा तो प्रशासन व पुलिस के अधिकारी के उसके अनुसार तैयारियों को अंतिम रूप देने में इधर-उधर की भागादौड़ी करते रहे. इस दौरान उन्होंने इसकी पड़ताल करने की कोशिश ही नहीं की कि पंचायत चुनाव क्षेत्र की वाकई में क्या स्थिति है. खास कर बेहद अहम माने जाने वाले संवेदनशील व अतिसंवेदनशील इलाकों के निर्धारण में तो सिरे से लापरवाही बरती गई.

वोटरलिस्ट से नाम गायब, हंगामा 
मतदाता सूची पुनरीक्षण के चलते चंडीघाट, कांगडी सहित अन्य इलाके के 2000 लोगों को मताधिकार से वंचित होना पड़ा. बहादराबाद ब्लाक में लालढ़ांग जिला पंचायत सीट में पड़ने वाले इस क्षेत्र के लोग सड़े सुबह मतदान करने चंडी घाट बूथ पर पहुंचे तो मतदाता सूची से उनके नाम गायब थे. वही कांगड़ी लालढ़ांग में भी यही हाल रहा. दर्जनों लोगों के नाम गायब देख मतदाताओं ने हंगामा कर दिया. बूथ पर तैनात पुलिस बल ने इसकी सूचना अधिकारियों को दी तो और फोर्स मौके पर भेज दी गई. हंगामे के मतदान में भी व्यवधान पड़ा, हालाकि मतदान का क्रम जारी रहा. इस बीच मौके पर चंडी घाट बस्ती पर पहुंचे हरिद्वार ग्रामीण विधायक स्वामी यतीश्वरानंद ने आरोप लगाया कि प्रशासन को विगत 7 दिसंबर को मतदाताओं के नाम वोटरलिस्ट से गायब होने के बारे में अवगत करा दिया गया था, लेकिन अफसर चुप्पी साधे रहे. कहा कि वोटरों को मताधिकार से वंचित करने वाले जिम्मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए. कहा कि कांग्रेस सरकार हार की डर से अपने इशारों से यह काम करवा रही है. इसके लिए मंडे को जिलाधिकारी कार्यालय पर वह धरने पर भी बैठेंगे. इधर वोट डालने से वंचित दक्षिणेश्वर काली मंदिर, दिव्य प्रेम सेवा मिशन आश्रम व आसपास के मतदाता भवानी सिंह, जितेन्द्र सिंह, संजय चतुर्वेदी, प्रशांत खरे, बिजेन्द्र पांडे ने कहा कि उनके पास मतदाता पहचान पत्र है, बीस साल से यहां रह रहे है, लेकिन मतदाता सूची में नाम गायब होने से हैरत में है. इस बारे में जिला प्रशासन से कई बार शिकायत की गई, लेकिन वह हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे. पिछले पंचायत, विधानसभा, लोकसभा के चुनावों में वोट कर चुके है, लेकिन इस बार उनकों वोटों से वांछित किया गया है.

इन बस्तियों के वोटरों के हुए नाम गायब 
चन्द्रेशखर आश्रम, खत्ता बस्ती, चंडीघाट, माजरा बस्ती, दयाल आश्रम, सेवाकुंज, काली मंदिर, कांगड़ी, मिठ्ठी बेड़ी, गैढ़ीखाता, लालढ़ांग सहित कई इलाकों पर वोटरों को लिस्ट से गायब किया गया.

दस बजे तक 15 प्रतिशत वोटिंग 
हरिद्वार। पंचायत चुनाव के दूसरे चरण के मतदान में भी मतदाताओं में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है. सुबह आठ बजे से बहादराबाद ब्लाक में शुरु हुए मतदान में सुबह से मतदाताओं की भीड़ बूथों पर उमड़ पड़ी. सुबह दस बजे तक बहादराबाद में 15.1 प्रतिशत मत पड़ चुके थे. पंचायत चुनाव के लिए विकास भवन में बनाए गए नियंत्रण कक्ष के अनुसार मतदान प्रक्रिया शांतिपूर्ण तरीके से चल रही है. 12 बजे तक 34.5 प्रतिशत वही दोपहर दो बजे तक 54 प्रतिशत शाम चार बजे तक 72 प्रतिशत पंचायत चुनाव के लिए विकास भवन में बनाए गए नियंत्रण कक्ष के अनुसार मतदान प्रक्रिया शांतिपूर्ण तरीके से चल रही है. प्रथम चरण में 91 फीसदी तक वोटिंग होने और इस चरण में भी मतदाताओं के उत्साह को देख अंदाजा लगाया जा रहा है कि मतदान प्रतिशत इस चरण में भी नब्बे फीसद से ऊपर रहेगा

2 लाख 30 हजार 605 है वोटर 
पंचायत चुनाव के दूसरे चरण में बहादराबाद ब्लाक के वोटर रविवार को उत्साह से लबरेज हो मतदान के लिए बूथों पर पहुंचे. ब्लाक के 91 मतदान केन्द्रों के 419 मतदेय स्थलों पर 33 से ज्यादा कार्मिकों ने मतदान प्रक्रिया शुरू कराई. इस ब्लाक में जिपं सदस्य की बारह सीटों के लिए 150 उम्मीदवार मैदान में हैं. बीडीसी की 40 सीटों के लिए 460, प्रधान पद की 72 सीटों के लिए 501 व ग्राम पंचायत सदस्य की 890 सीटों के लिए 1850 उम्मीदवार मैदान में हैं। बहादराबाद ब्लाक में कुल 2 लाख 30 हजार 605 मतदाता होना था.

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button