आम आदमी को बड़ा झटका, सरकार ने दी प्राइवेट ट्रेनों को किराया वसूलने की खुली छूट

New Delhi: केंद्र सरकार आम आदमी को एक और झटका देने की तैयारी शुरू कर दी है, लंबी दुरी की यात्रा के लिए आम आदमी का एक मात्र जरिया ट्रैन होता है। सरकार अब उसको भी आपकी पहुच से बाहर करने जा रही है। प्राइवेट ट्रेनों के संचालन के साथ ही सरकार ट्रेनों के मालिकों यानि की कंपनियों को खुली छूट दे दी है, मनमानी किराया वसूले को। मोदी सरकार प्राइवेट एयरलाइसं कंपनियों की तरह पर प्राइवेट ट्रेनों को भी छूट देगी किराया वसूलने का।

केंद्र सरकार कंपनियों को सिर्फ इस बात का ख्याल रखने को बोला है कि उन रूटों पर चलने वाली AC बसों और प्लेनों से जयादा का किराया ना वसूला जाए। ट्रेनों के किराया को लेकर ब्लूमबर्ग रिपोर्ट आई है, जिसके मुताबिक मोदी सरकार ने निजी कंपनियों को स्टेशनों के आधुनिकीकरण ,ट्रेनों परिचालन और निर्माण में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया है। मोदी सरकार ने दशकों से चली आ रही लापरवाही और भ्रस्टाचार को इसके पीछे का कारण बताया है।

IRCTC special trains update: Indian Railways announces 40 clone trains for passengers - see full list - The Financial Express

 

 

बता दें कि भारत में तक़रीबन तीन करोड़ लोग डेली ट्रेनों से यात्रा करते है, लंबी दुरी की यात्रा के लिए एक उचित किराया में आम आदमी ट्रैन से ही यात्रा कर पाता है। केंद्र सरकार ने इस परियोजना के तहत 109 रूटों पर 151 प्राइवेट ट्रेनों को चलाने की अनुमति भी दे चुकी है। इसके अलावा नई दिल्ली, मुंबई समेत तमाम स्टेशनो को आधुनिकीरण के लिए भी प्राइवेट कंपनियों को चुनने जा रही है। रेलवे ने लिस्ट जारी कर के बताया है कि ट्रेन नंबर (02563) सहरसा से नई दिल्ली के लिए चलेगी, जबकि ट्रेन नंबर (02564) नई दिल्ली से सहरसा के लिए प्रतिदिन चलेगी। यह ट्रेने कानपुर, गोरखपुर और छपरा स्टेशनो पर रुकेंगी। इसके अलावा बिहार से नई दिल्ली के लिए प्राइवेट ट्रेन पूर्व मध्य रेल के दरभंगा, मुजफ्फरपुर, राजगीर और राजेन्द्रनगर स्टेशन से भी चलेगी।

Related Articles

Back to top button