योगी सरकार के बजट में अयोध्या को बड़ा तोहफा, सिर्फ इसके लिए दिए 300 करोड़

यूपी विधानसभा में आज पेश हुए पांचवें पूर्ण बजट में किसान, युवा, महिलाएं, स्टूडेंट पर सरकार ने खास फोकस रखा गया है।

लखनऊ: योगी सरकार ने अपने कार्यकाल का अंतिम बजट पेश कर दिया हैं, योगी आदित्यनाथ के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना आज यानि सोमवार को योगी सरकार का पांचवां और इस कार्यकाल का आखिरी बजट पेश किया। उन्होंने इन पंक्तियों के साथ बजट की घोषणा की..यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट भी लेकर चिराग जलता है…5 लाख 50 हज़ार 270 करोड़ 78 लाख के इस बजट में 27 हजार 598 करोड़ 40 लाख रुपये की नई योजनाएं शामिल की गई हैं।

अगले वर्ष विधानसभा चुनाव से पहले किसानों, युवाओं, महिलाओं व श्रमिकों के साथ सभी वर्गों को साधने का यह योगी सरकार के पास आखिरी मौका था, यूपी विधानसभा में आज पेश हुए पांचवें पूर्ण बजट में किसान, युवा, महिलाएं, स्टूडेंट पर सरकार ने खास फोकस रखा गया है। अब देखना यह होगा कि इस बजट के बाद प्रदेश की जनता योगी सरकार से कितना संतुष्ट हो पाती है। इस बजट के बाद वित्त मंत्री ने बताया कि पिछले साल के मुकाबले इस बार के बजट में 7.5 फीसदी का इजाफा किया गया है।

जानिये योगी सरकार के बजट की ये बड़ी बातें

  • आगरा मेट्रो के लिए 471 करोड़ रूपए का बजट
  • वकीलों के लिए चेंबर बनाएं जाएंगे-सुरेश खन्ना
  • महिला सामाथ्र्य के नाम से महिलाओं के लिए 200 करोड़क योजना
  • किसानों को मुफ्त पानी के लिए 600 करोड़ की योजना, सोलर पंप लगाए जाने की स्कीम
  • प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए युवाओं के लिए मुफ्त कोचिंग की व्यवस्था
  • गांव में स्टेडियम के लिए 25 करोड़ की योजना

अयोध्या को मिली ये सौगात 

वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने अयोध्‍या को चमकाने के लिए 140 करोड़ का ऐलान किया है। वहीँ कोरोना टीके के लिए 50 करोड़ का प्रावधान किया गया है। वित्‍त मंत्री ने बताया कि श्री राम मंदिर तक पहुँचने के लिए मार्गो को 300 करोड़ से अधिक राशि दी गई है।  सुरेश खन्ना ने ऐलान किया कि अयोध्या और वाराणसी में पर्यटन विकास के लिए 100-100 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। वित्त मंत्री ने कहा कि जेवर एयरपोर्ट के पास एक इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनाई जाएगी। मंत्री ने कहा प्रदेश के एक से आठ के कक्षा के बच्चो के लिए ड्रेस मुफ्त दिए जाएंगे। उन्होंने बताया प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर IT पार्क बनाए जा रहे हैं।

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा, 2018-19 का बजट औद्योगिक विकास को समर्पित था। वहीँ 2019-20 का बजट महिलाओं के विकास को समर्पित था। और अब 2021-22 का बजट समावेशी विकास पर केंद्रित है। सुरेश खन्ना ने कहा कि प्रदेश में 1 हजार करोड़ की संपत्ति भूमाफिया के कब्जे से मुक्त कराई गई है। साथ ही उन्होंने ने कहा, किसानों की आय 2022 तक दोगुना करने का हमारा लक्ष्य है।

यह भी पढ़े: योगी सरकार ने पेश किया 5 लाख 50 हज़ार करोड़ का बजट, छात्रों के लिए ख़ुशख़बरी

Related Articles

Back to top button