IPL
IPL

दर्जन भर नेताओं ने Congress से जुड़ा हाथ, ‘साइकिल’ पकड़ने को है तैयार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कांग्रेस (Congress) की मुश्किलें आने वाले कुछ दिनों में बढ़ने जा रही हैं। पार्टी के कम से कम एक दर्जन से अधिक नेता समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में अपना भविष्य तलाश रहे हैं। पार्टी संगठन की नई व्यवस्था में ये नेता खुद को अलग-थलग महसूस कर रहे हैं। वे मान बैठे हैं कि फिलहाल 2022 में भी कांग्रेस, भाजपा को सीधी टक्कर देती नहीं दिख रही है।

सूत्रों की मानें तो समाजवादी पार्टी इस बार बिना गठबंधन के चुनाव लड़ने जा रही है। उसकी निगाह कांग्रेस (Congress) की उन परंपरागत सीटों और नेताओं पर है जहां भाजपा (BJP)अपनी पैठ नहीं बना पाई है। ये ऐसी सीट हैं जहां अभी तक चुनावी ध्रुवीकरण, राजनीतिक दलों के रसूख की बजाय व्यक्तिगत दमखम पर होता है। कांग्रेस (Congress) के ऐसे ही कद्दावर नेता जिनका अपने इलाके में बेहतर जनाधार है सपा के संपर्क में हैं।

कुछ दिन पहले ही कांग्रेस (Congress) का हाथ छोड़ने वाले एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि राजनीति अब एक ही पार्टी में जीवन खपा देने वाली नहीं रही। उनका यह भी कहना कि पिछले विधान सभा चुनाव (Assembly elections) में पार्टी ने आखिरी समय में गठबंधन कर लिया जिसका सबसे अधिक नुकसान कांग्रेस को चुकाना पड़ा। पहले की तुलना में सीटें और भी कम होती नाजा आ रही है। फिलहाल पार्टी अभी पूरे प्रदेश में जमीन तलाश रही है। अगर टिकट मिल भी जाएगा तो माहौल फिलहाल कांग्रेस के पक्ष में नहीं है। सपा में जाने से सरकार बनने की संभावनाएं हैं या मजबूत विपक्ष की भूमिका रहेंगे।

यह भी पढ़ें: समाजवादी पार्टी लड़ेगी 2 सीटों पर चुनाव, उम्मीदवारों के नाम किये घोषित

यह भी पढ़ें: जानिये क्या है मकर संक्रांति का पौराणिक महत्व, कैसे करे इस ख़ास दिन की शुरुआत

Related Articles

Back to top button