लखनऊ के एक व्यक्ति ने २९ साल बाद लिया पिता की हत्या का बदला

लखनऊ, जेएनएन। अपने पिता की हत्या का बदला लेने के लिए पुराने समय में लोग इन्तजार किया करते थे। ठीक उसी प्रकार लखनऊ के कल्याण ने 29 साल तक इंतजार किया। यही नहीं उसने अपने पिता के कातिल से दोस्ती भी कर ली। रविवार को मौका पाते ही उसने बांंके से पिता के कातिल सुंदरलाल पर वार करके मौत की नींद सुला दिया। पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद उसने कहा कि बाप का बदला लिया है।

गोसाईगंज के महुराकला गांव के मजरा रामपुर निवासी सुदरलाल रावत 68 की रविवार की शाम करीब आठ बजे गांव के पास धारदार हथियार से हमला कर हत्या कर दी गई। मृतक के पुत्र आशाराम के अनुसार हत्या गांव के ही कल्याण सिंह रावत ने की। हत्या की घटना के बाद से ही पुलिस ने कल्याण की तलाश शुरु कर दी। वह सोमवार को गंगागंज में पुलिस की पकड़ में आ गया। इंस्‍पेक्टर विजय कुमार सिंह के अनुसार कल्याण सिंह ने बदले की भावना से सुंदर की हत्या कर दी।

बताया गया कि कल्याण के पिता की 1990 में हत्या कर दी गई थी। कल्याण ने पुलिस को बताया कि पिता राम स्वरूप की हत्या सुंदर ने ही की थी तब वह एक महीने का भी नहीं था। बड़ा होने पर पिता के विषय में जानकारी करने पर मां ने हत्या की बात बताई थी। कल्याण बड़ा हुआ तो पिता का बदला लेने की सोचने लगा। इसी सोच में उसने सुंदर से दोस्ती की और साथ में उठने बैठने लगा। रविवार को मौका पाकर उसने सुंदर पर बांंके से कई वार कर मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त बांंका बरामद कर आरोपी कल्याण को जेल भेज दिया। अभियुक्त को गिरफ्तार करने वाली टीम में इंस्‍पेक्टर विजय कुमार सिंह के अलावा उप निरीक्षक अर्जुन सिंह, विजय कुमार सिंह, संजय कुमार शुक्ला, आरक्षी अशोक कुमार सिंह, विकास जायसवाल व राहुल शामिल रहे।

Related Articles