घाटी के सड़कों पर बर्फ का पहाड़, कश्मीर से सूदरवर्ती लोगों का संपर्क टूटा

कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास बर्फबारी से सूदरवर्ती लोगों का संपर्क टूटा

श्रीनगर: उत्तर कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास के इलाकों सहित सूदरवर्ती कई इलाकों के लोगों का घाटी के बाकी हिस्सों से लगातार चाथे दिन गुरुवार को भी संपर्क टूटा रहा। इन सीमा क्षेत्रों तक यातायात बहाल करने के लिए अभी तक बर्फ हटाने का अभियान शुरू नहीं हो पाया है।

सड़कों में फिसलन

उत्तर कश्मीर के कई सदूरवर्ती और दूरदराज के गांवों के अलावा केरन, केरनाह, तंगधार और माछिल के सीमावर्ती कस्बों में आज चौथे दिन भी सड़कों में फिसलन और कई फुट बर्फ जमा होने के कारण यातायात शुरू नहीं हो सका है। इस दौरान सीमांत शहर गुरेज और बांदीपोरा में उसके आसपास के इलाकों की सड़कों पर तीन से चार फुट बर्फ जमा होने के कारण 14 नवंबर से घाटी के बाकी हिस्सों से इसका संपर्क टूटा हुआ है।

इलाकों में संपर्क टूटा

कुपवाड़ा के पुलिस नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने बताया कि माछिल, केरनाह, केरन और तंगधार सहित कई सूदरवर्ती और दूरदराज के गांवों का सड़कों पर बर्फ जमा होने और फिसलन के कारण अन्य इलाकों से संपर्क टूटा रहा। अधिकारी ने कहा कि साधना टॉप, फरकियान दर्रे और जेड गली में दो से तीन फुट से अधिक बर्फ जमा हुई है। मौसम शुष्क होने पर सड़कों से बर्फ हटाने का कार्य गुरुवार या फिर शुक्रवार से शुरू हाेने की संभावना है।

बांदीपोरा-गुरेज़ सड़क पर यातायात

बांदीपोरा से पीसीआर के एक अधिकारी ने बताया कि 14 नवंबर से गुरेज वाहनों की आवाजाही के लिए बंद है, यह इलाका पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से तीन ओर से घिरा हुआ है। गुरेज, नीरु और बांदीपोरा जिला मुख्यालय से लगी नियंत्रण रेखा के पास के कई अन्य इलाकों को जोड़ने वाले राजदान दर्रे में तीन से चार फुट बर्फ जमी हुई है। बांदीपोरा-गुरेज़ सड़क पर यातायात जल्द ही बहाल होने की अभी कोई संभावना नहीं है।

यह भी पढ़े:बिहार राज्यसभा उपचुनाव के लिए अधिसूचना जारी, नामांकन भरने की प्रक्रिया भी शुरू

यह भी पढ़े:देश में लगातार दूसरे दिन 44 हजार से अधिक कोरोना के नये मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 92.66 लाख के पार

Related Articles

Back to top button