हार्दिक ने उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल को दिया कांग्रेस में शामिल होने न्योता, मिला ये ऑफ़र

0

अहमदाबाद। गुजरात में विधानसभा चुनाव में जीत के बाद हाल ही में विजय रुपाणी ने दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इसी के साथ नितिन पटेल उप मुख्यमंत्री बने। बीती रात मुख्यमंत्री अपनी पहली कैबिनेट बैठक की और मंत्रियों को विभाग आवंटित किए। इसी के बाद विजय रूपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल के बीच अनबन की खबर आ रही है। खबर ये भी है कि नितिन पटेल इस्तीफा दे सकते हैं।

वहीं पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने नितिन पटेल को अपने साथ शामिल होने का न्योता दिया है। उन्होंने नितिन को अपनी पार्टी के 10 विधायकों को भी लेकर आने की बात कही है। पाटीदार नेता ने कहा है कि वो कांग्रेस में नितिन को अच्छी जगह दिलाने की बात कहेंगे।

हार्दिक पटेल का ऑफर 

हार्दिक ने बताया कि अगर नितिन भाई 10 विधायकों के संग बीजेपी छोड़ने को तैयार हो जाते हैं, तो हम कांग्रेस में उन्हें उपयुक्त पद देने की बात करेंगे। आपको बता दें कि हार्दिक ने यह बात ऐसे समय कही है कि जब बोटाड में पाटीदार अनामत आंदोलन समिति की बैठक होने वाली है।  इस बैठक समिति की कार्यप्रणाली और भविष्य के कार्यों पर चर्चा की गई।

रूपाणी और नितिन में अनबन     

आपको बता दें कि सरकार बनने के महज तीन दिन बाद अहम मंत्रालय नहीं मिलने से नाराज़ उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने अब तक अपना कार्यभार नहीं संभाला है। इतना ही नहीं सूत्रों की मानें तो नितिन पटेल इस्तीफा दे सकते हैं। ख़बर के मुताबिक नाराज़ नितिन पटेल के मनाने खुद मुख्यमंत्री विजय रूपाणी गए थे जिसके बाद वो 5 बजे शुरू होने वाली बैठक में रात नौ बजे आए। सूत्रों के मुताबिक नितिन पटेल ने कहा है कि अगर उन्हें वित्त मंत्रालय नहीं दिया गया तो वो आत्मसम्मान को ठेस पहुंचने के नाम पर इस्तीफ़ा भी दे सकते हैं।

पटेल को हालांकि लगातार दूसरी बार उपमुख्यमंत्री बनाया गया है पर उनसे वित्त, नगर विकास और नगरीय आवास तथा पेट्रो रसायन जैसे महत्वपूर्ण विभाग छीन लिए गए हैं। 26 दिसंबर को मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के मंत्रि परिषद के शपथ ग्रहण के बाद देर रात मंत्रियों के विभागों का बंटवारा हुआ था। पटेल से वित्त का प्रभार लेकर फिर से मंत्रिमंडल में वापसी करने वाले पूर्व वित्त मंत्री सौरभ पटेल को दे दिया गया है।

पटेल ने सरकारी गाड़ी का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है

यह भी कहा जा रहा है कि डिप्टी सीएम पटेल ने सरकारी गाड़ी का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है और वह निजी व्हीकल से आ-जा रहे हैं। शुक्रवार को ज्यादातर मंत्रियों ने अपने विभागों का कार्यभार संभाल लिया, लेकिन नितिन पटेल ने देर शाम तक ऐसा नहीं किया। गौरतलब है हाल ही में हुए गुजरात चुनाव में बीजेपी ने 99 सीट जीती थी और कांग्रेस को 80 सीटों से संतोष करना पड़ा था। जीत के बाद बीजेपी ने विजय रूपाणी को मुख्यमंत्री और नितिन पटेल को उप मुख्यमंत्री चुना था।

जानिए किन नेताओं को कौन-कौन सा विभाग मिला –

  • उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल को सड़क एवं निर्माण, स्वास्थ्य, मेडिकल शिक्षा, नर्मदा, कल्पसार एवं कैपिटल परियोजना जैसे विभागों की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
  • वित्त विभाग सौरभ पटेल को दिया गया है। वह ऊर्जा विभाग भी संभालेंगे।
  • वरिष्ठ मंत्री भूपेंद्र सिंह चूड़ास्मा शिक्षा, विधि एवं न्याय और संसदीय एवं विधायी मामलों के विभाग संभालेंगे।
  • पहली बार मंत्री बने आर सी फालदू को कृषि मत्स्य-पालन, पशुपालन एवं परिवहन विभाग दिए गए हैं।
  • कौशिक पटेल को राजस्व विभाग दिया गया है जबकि गणपत वसावा को आदिवासी विकास, वन एवं पर्यटन की जिम्मेदारी दी गई है।
loading...
शेयर करें