जीवाणु नाम के व्यक्ति ने बच्चों, औरतों, आदमियों के साथ किन्नरों का भी किया रेप

0

हवस के जीवाणु की अजीब दास्ताँ जिसमे कई गुनाह किये, अब पुलिस की गिरफ्त में

जयपुर: देश में बहुत से ऐसे अपराधी पकडे गए है, जिन्होंने कई सारे संगीन जुर्म किये है. ऐसी करतूतें किसी भी आम इंसान को दहला सकती हैं. उसे खौफजदा कर सकती हैं. इनमें कोई बेरहम कातिल है तो कोई कुख्यात लुटेरा या फिर कोई रेपिस्ट. राजस्थान पुलिस ने एक ऐसे ही दरिंदे को गिरफ्तार किया है, जिसके काले कारनामें जानकर पुलिसवाले भी दंग रह गए. उस दरिंदे को एक मासूम से बलात्कार के आरोप में अरेस्ट किया गया. लेकिन जब उसकी सच्चाई पूछताछ में सामने आई तो पुलिस को पता चला कि उस शख्स ने जुर्म की एक नई इबारत लिख दी है.सीरियल रेपिस्ट, ये शब्द सुनकर आप एक ऐसे शख्स की कल्पना करते हैं, जिसने एक के बाद एक महिलाओं को अपनी हवस का शिकार बनाया हो. लेकिन हम जिस शख्स की करतूत आपके सामने रखने वाले हैं. उसके लिए ये शब्द भी छोटा नजर आता है. जिसने मासूम बच्चियों, बच्चों के अलावा पुरुषों और किन्नरों को भी अपनी हवस का शिकार बना डाला. उस पर कुछ ऐसा जुनून सवार होता था कि उसने किसी को नहीं छोड़ा. उसके गुनाह की फेहरिस्त इतनी लंबी है कि पुलिस को पूछताछ में कई घंटों का वक्त लगा.

दरअसल, राजस्थान की राजधानी जयपुर में पुलिस ने एक सात साल की मासूम से बलात्कार करने के आरोप में एक शख्स को गिरफ्तार किया. जिसकी पहचान सिकंदर उर्फ जीवाणु के रूप में हुई. पुलिस को ज़रा भी अंदाजा नहीं था कि जो दरिंदा उनकी पकड़ में आया है, वो दरअसल, एक सीरियल रेपिस्ट है. जिसने हैवानियत की सारी हदें पार कर दी. पुलिस उसे पकड़ कर थाने लाई और पूछताछ शूरू की.इसके बाद जीवाणु ने खुद अपने गुनाहों का चिठ्ठा पुलिस के सामने खोल कर रख दिया. पुलिस वाले हैरान थे कि आखिर उनके हाथ आया शख्स एक ऐसा कुख्यात अपराधी है, जिसने एक नहीं दो नहीं बल्कि 65 से ज्याहा रेप की वारदातों को अंजाम दिया. बीते शनिवार को सिकंदर उर्फ जीवाणु ने पुलिस को पूछताछ में कहा कि वो जब भी जेल से छूटेगा, तो पुलिस को उसकी ख़बर देने वाले को मौत देगा.

सिकंदर उर्फ जीवाणु ने एक-एक कर अपने गुनाह बयां किए. उसने पुलिस को बताया कि शास्त्री नगर में उसने नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार किया था. वो उस बच्ची की हत्या करना चाहता था. पूछताछ के दौरान जीवाणु ने कोटा में अपने दोस्त की नाबालिग बच्ची को भी शिकार बनाया था, लेकिन उसकी हत्या नहीं करने को वो अपनी सबसे बड़ी भूल बता रहा है.पुलिस के मुताबिक जीवाणु ने अब तक 25 से ज्यादा नाबालिग लड़कों को अपनी हवस का शिकार बनाया. यही नहीं उस सीरियल रेपिस्ट जीवाणु ने 40 पुरुषों और किन्नरों का भी अप्राकृतिक यौन शोषण किया. वह महिलाओं की तुलना में कम उम्र के पुरुषों के साथ अप्राकृतिक यौन शोषण करता था.सिकंदर उर्फ जीवाणु के कई नाम हैं. उसे अलग-अलग नामों से जाना जाता है. उसने अपने एक साथी के साथ मिलकर लूट और चोरी की वारदातों को भी अंजाम दिया. दोनों के बीच एक रात में ज्य़ादा से ज्यादा चोरियां करने का कम्पिटीशन होता था. सिकंदर ने ही अपना नाम जीवाणु और अपने साथी का नाम कीटाणु रखा था.पुलिस को छानबीन में पता चला कि जीवाणु मादक पदार्थों की भी तस्करी भी किया करता था. वह मादक पदार्थों को जयपुर के परकोटा क्षेत्र में सप्लाई करता था.

उसने पुलिस को बताया कि वह 1 जुलाई को शास्त्री नगर में नाबालिग बच्ची से रेप के बाद 2 जुलाई को जयपुर में ही नाई की थड़ी के पास छिपा था. लेकिन मीडिया में सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद वह फरार हो गया. इसके बाद वह सांगानेर में जाकर मजदूरों के साथ फुटपाथ पर सोया. 4 जुलाई को आरोपी जीवाणु टोंक की ओर चला गया था और फिर 5 जुलाई को देवली के ठेके पर सेल्समैन से झगड़ा किया. वहां भी वो मैनेजर सोहन लाल को गोली मारकर 20 हजार रुपये लूटकर फरार हो गया. देवली में लूट के बाद में आरोपी जीवाणु कोटा में अपने दोस्त के पास जाकर छिप गया था.

इस दौरान पुलिस ने उसका मोबाइल नंबर सर्विलांस लगा दिया था. पुलिस उसके मोबाइल नंबर की लोकेशन को ट्रेस करते हुए कोटा तक जा पहुंची. बीते शनिवार की शाम 5 बजे सिकंदर कोटा के भीमगंज में बाबू चाय वाले की थड़ी पर चाय पी रहा था, तभी पुलिस ने उसे धर दबोचा.

पुलिस पूछताछ में उसने कुबूल किया कि 1 जुलाई और 22 जून को जयपुर के शास्त्रीनगर इलाके में 7 साल और 4 साल की बच्ची के साथ उसी ने रेप किया था. 2015 में भी जमानत पर बाहर आने के बाद उसने भट्टा बस्ती इलाके में दो बच्चों से छेड़छाड़ की थी, तब पुलिस ने पकड़ लिया था लेकिन वो पुलिसकर्मियों पर सरिए से हमला कर भाग निकला था. उसके खिलाफ अब तक कई मामले दर्ज हो चुके हैं. वह 6 बार जेल जा चुका है. अब पुलिस उसके खिलाफ मज़बूत केस बनाने की तैयारी में हैं.

loading...
शेयर करें