चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली छात्रा अपने बयान से पलटी

स्वामी चिन्मयानंद
स्वामी चिन्मयानंद

लखनऊ: भाजपा के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर जिस एलएलएम की छात्रा ने बलात्कार करने का आरोप लगाया था, मंगलवार को एमपी-एमएलए कोर्ट में वही छात्रा अपने बयान से पलट गई. स्पेशल जज पवन कुमार राय के सामने सुनवाई के दौरान लड़की ने कहा की मैने पूर्व मंत्री पर कोई आरोप नहीं लगाया है. लड़की की बात सुनकर सभी स्तब्ध रह गए. इस पर अभियोजन पक्ष के वकील ने झूठा बयान देने के लिए सीआरपीसी की धारा 340 के तहत लड़की के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

जज ने आदेश देते हुए कहा कि अभियोजन पक्ष के कार्रवाई के आवेदन को स्वीकार किया जाए और इस आवेदन की कॉपी पीड़िता और आरोपी को भी सौंपी जाए. बता दे कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर लखनऊ के विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हो रही है. कोर्ट में इस केस की अगली सुनवाई 15 अक्टूबर को फिर होगी

चिन्मयानंद पर लगा था बलात्कार का आरोप 

गौरतलब है कि पिछले साल एलएलएम की इसी छात्रा ने 5 सितम्बर को दिल्ली के लोधी कॉलोनी थाने में मुकदमा दर्ज कर स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाया था. इससे पहले 28 अगस्त को लड़की के पिता ने शाहजहांपुर में लड़की के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराइ थी.

इस मामले में प्रदेश सरकार ने एसआईटी का भी गठन किया था. इस प्रकरण में चिन्मयानंद को जेल भी भेजा गया था, जिसके बाद इसी साल फरवरी में चिन्मयानंद को इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत मिली है.

लड़की के ऊपर भी ब्लैकमेल करने का आरोप 

इसी मामले में लड़की के ऊपर भी चिन्मयानंद को ब्लैकमेल कर रंगदारी मांगने का आरोप लगाया गया था.

 

ये भी पढ़ें- बांग्लादेश से पिछड़ सकता है भारत,बीजेपी के नफरत भरे राष्ट्रवाद की उपलब्धि :राहुल गाँधी

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान की पार्टी ने खोली सरकार और सेना के रिश्तों की पोल, भारत के साथ व्यापार की वकालत

Related Articles