घर के पीछे कुएं की खुदाई में निकला 745 करोड़ की कीमत का बेशकीमती रत्न, उड़ गए होश

कोलंबो: पड़ोसी देश SriLanka की अथॉरिटीज ने दावा किया है कि उनके यहां एक घर के पीछे एक कुएं की खुदाई के दौरान दुनिया का सबसे बड़ा नीलम का बेशकीमती पत्‍थर मिला है। बेशकीमती पत्‍थरों का व्‍यापार करने वाले एक कारोबारी ने बताया कि यह बेशकीमती नीलम का पत्‍थर एक व्‍यक्ति को उसके घर के पीछे कुएं की खुदाई के दौरान अचानक मिला है। विशेषज्ञों का मानना है कि इस नीलम के पत्‍थर की कीमत 745 करोड़ रुपये या अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में करीब 10 करोड़ डॉलर है।

जानकारों ने इस नीलम के बेशकीमती पत्‍थर को सेरेंडिपिटी सैफायर नाम दिया है। यह करीब 510 किलो वजनी है और 25 लाख कैरेट का है। इस नीलम पत्‍थर के मालिक डॉ. गमागे ने एक ग्लोबल न्यूज़ चैनल को बताया है कि जो व्‍यक्ति उनके यहां कुआं खोद रहा था, उसने खुदाई के दौरान उन्‍हें जमीन के नीचे कुछ बेशकीमती पत्‍थर दबे होने की जानकारी दी थी। बाद में वे लोग इस बड़े पत्‍थर को निकालने में सफल रहे। डॉ. गमागे भी बेशकीमती पत्‍थरों के कारोबारी हैं। उन्‍होंने अपनी इस खोज के बारे में अथॉरिटीज को जानकारी दी है। उनका कहना है कि इस पत्‍थर को साफ करने और इससे गंदगी हटाने में एक साल का वक्‍त लगेगा। इसके बाद ही इसका विश्‍लेषण करके इसका पंजीकरण हो पाएगा।

उन्होंने बताया कि पत्‍थर की सफाई के दौरान उससे नीलम के कुछ टुकड़े अलग होकर गिरे थे। इस दौरान उनका विश्‍लेषण किया गया तो पता चला कि वो बेहद उच्‍च श्रेणी का बेशकीमती रत्न है। यह पत्‍थर श्रीलंका के रत्‍नापुरा शहर में पाया गया है। यह शहर श्रीलंका का जेम‍ सिटी कहलाती है। यहां पहले भी काफी बहुमूल्‍य पत्‍थर पाए जा चुके हैं। श्रीलंका विश्‍व में नीलम पत्‍थर और अन्‍य कीमती नगीनों का बड़ा एक्सपोर्टर देश है। पिछले साल ही श्रीलंका ने हीरों की कटाई और कीमती पत्‍थरों के निर्यात से करीब 50 करोड़ डॉलर कमाए हैं। हालांकि कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि इस क्‍लस्‍टर के अंदर अधिकांश नीलम पत्‍थर उच्‍च क्‍वालिटी के नहीं होंगे।

ये भी पढ़ें : कांग्रेस में ‘चाणक्य’ की भूमिका में नज़र आ सकते हैं PK, राहुल ने वरिष्ठ नेताओं से…

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles