IPL
IPL

एक युवक ने ट्रेन के आगे लगाई छलांग, महिला IPS पर लगाया गंभीर आरोप, जानें पूरा मामला

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ हसनगंज थानाक्षेत्र के रैदास मंदिर रेलवे क्रासिंग पर बुधवार सुबह विशाल सैनी (Vishal Saini) (26) ने ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली है। विशाल सैनी (Vishal Saini) ने खुदखुशी से पहले पुलिस कंट्रोल रूम को कॉल कर आत्महत्या करने सूचना दी थी। सूचना मिलते ही बताई हुई जगह पर पहुंची पुलिस ने उसका शव बरमाद किया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं उसके पास से पुलिस को एक सूइसाइड नोट बरामद हुआ है। इस सूइसाइड नोट में उसने लखनऊ में तैनात महिला आईपीएस अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाते हुए महिला अधिकारी को सजा दिलाने की मांग भी की। उधर, लखनऊ कमिश्नरेट पुलिस ने इन आरोपों को निराधार बताया है।

सूइसाइड नोट में लगाया आरोप

हसनगंज इंस्पेक्टर अमरनाथ वर्मा ने बताया है कि चांदगंज छपरतल्ला का रहने वाला विशाल सैनी सचिवालय में संविदा पर तैनात है। बुधवार सुबह 11 बजे उसने खुद पुलिस कंट्रोल रूम को कॉल कर आत्महत्या करने सूचना दी थी। सूचना मिलते ही बताई हुई जगह पर पहुंची पुलिस ने उसका शव बरमाद किया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं उसके पास से पुलिस को एक सूइसाइड नोट बरामद हुआ है।

मृतक विशाल सैनी ने सूइसाइड नोट में आरोप लगाते हुए लिखा है कि मैं विशाल सैनी पुत्र अर्जुन सैनी अपने पूरे होशो हवास में आत्महत्या कर रहा हूं, आज मेरे आत्महत्या करने की वजह लखनऊ में तैनात महिला आईपीएस अधिकारी प्राची सिंह हैं, इन्होने मेरा करियर खराब कर दिया। इनकी वजह से मैं समाज में नजरें उठाकर नहीं चल पा रहा हूं, आईपीएस प्राची सिंह ने मुझे सेक्स रैकेट में फंसाया है, इस वजह से मुझे घुटन सी हो रही है और मैं अपने परिवार से भी नजरें नहीं मिला पा रहा हूं।

सूइसाइड नोट

ये भी पढ़ें : जानिए क्यों RBI ने किया था इस बैंक को बैन

कड़ी सजा देने की मांग

न्याय की गुहार लगाते हुए उसने लिखा है कि, आईपीएस अधिकारी प्राची सिंह को कड़ी सजा होना चाहिए। जिससे की ये निर्दोष लोगों को कभी जेल न भेज सके। ये अपने पद का गलत इस्तेमाल करती और अपने प्रमोशन के चक्कर में कई निर्दोषों को सजा देती है। मैं बेकसूर था और मुझे प्राची सिंह ने फंसाया है। इसके आगे उसने लिखा मम्मी पापा अपना ख्याल रखना। एलआईसी से जो पैसा मिले उसे अपने मकान के लिए उपयोग करना। आपका लाडला विशाल सैनी।’ इस पर उसने अपने अंग्रेजी में हस्ताक्षर किये हैं।

ये भी पढ़ें : जानिए SCIENCE की मदद से कहाँ हुई है बुद्ध की वापसी

प्राची सिंह ने दी सफाई

एडीसीपी नार्थ प्राची सिंह ने सफाई देते हुए मृतक विशाल सैनी द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को उन्होंने निराधार बताया। उन्होंने कहा कि मैं अपनी ड्यूटी कर रही थी, मेरे निर्देशन पर छापेमारी हुई थी। विशाल की मौत का मुझे भी दुःख है, उसने आत्महत्या क्यों की मुझे नहीं पता। उधर लखनऊ कमिश्नरेट पुलिस ने इन आरोपों को निराधार बताया है।

 

Related Articles

Back to top button