पाकिस्तान से आई महिला को कुछ ही महीने पहले मिली थी भारतीय नागरिकता, अब करेगी राजनीति…

किसी ने सच ही कहाँ है की बाप आखिर बाप ही होता है जिसका जीता जागता उदाहरण यह है पाकिस्तान और भारत की तुलना करने के लिए यह खबर काफी है जहां भारत में पाकिस्तान मुल्क से आई महिला अब पंचायत का चुनाव लड़ेगी तो वही पाकिस्तान में 14 साल की हिंदू लड़की का अपहरण किया जाता है साथ उसका धर्म परिवर्तन की भी बात सामने आई है। पाकिस्तान की उस महिला ने 12वीं तक की पढ़ाई तो पाकिस्तान में की और आगे की पढ़ाई भारत में पूरी की।

राजस्थान के नटवारा ग्राम पंचायत क्षेत्र से हाल ही में भारत की नागरिकता प्राप्त की है और अब महिला उम्मीदवार नीता सोढ़ा पंचायत चुनाव लड़ रही हैं। नीता ने यह भी बताया कि वह 18 साल पहले भारत आईं थी और अभी 4 महीने पहले ही उनको भारत की नागरिकता मिली है।

नीता ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा ,’ मैं केवल यह जानती हूं कि केवल सीएए के जरिए भारत में अच्छा जीवन यापन करने और अच्छी शिक्षा प्राप्त की जा सकती है. सोढा राजपूत समाज की महिला होने के नाते हम हमारी उसी जाति में शादी नहीं कर सकते. हमारा समाज भारत में रहता है और अधिकतर समाज के लोग जोधपुर में रहते है. मैंने 2001 में कॉलेज शिक्षा प्राप्त करने और उके बाद सुयोग्य वर के लिये पाकिस्तान से जोधपुर आई थी.

उन्होंने जानकारी दी है कि वह भारतीय नागरिकता पाने के लिये तीन साल से संघर्ष कर रही थीं. पिछले वर्ष सितम्बर में टोंक प्रशासन ने उनकी नागरिकता की अर्जी स्वीकार ली. साथ ही कहा कि अब मैं नटवाडा सीट से सरपंच पद के लिये चुनाव लड़ रही हूं. यह सीट सामान्य महिला उम्मीदवार के लिये सुरक्षित है. मैं लैंगिक समानता, महिला सशक्तीकरण और गांव के विकास को बढ़ावा देने के लिए काम करूंगी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राजस्थान में शुक्रवार को पहले चरण में 6,759 ग्राम पंचायतों के लिए मतदान हो रहा है. जबकि दूसरे चरण के लिए मतदान की तारीख 22 जनवरी तय है वहीं तीसरे चरण के लिए वोटिंग 29 जनवरी को होगी. राजस्थान में कुल 11,123 ग्राम पंचायत हैं.

Related Articles